गोवा के आर्कबिशप ने दिखाया मोदी सरकार को आईना, कहा- देश का संविधान खतरे में

नई दिल्ली। गोवा के आर्कबिशप फिलिप नेरी ने पादरियों को लिखे अपने सालाना पत्र में मोदी सरकार पर अप्रत्यक्ष रुप से निशाना साधा है। उन्होंने अपने पत्र में कैथोलिक्स समुदाय से 2019 चुनावों में संविधान की रक्षा के लिए आगे आने का आह्वान किया है। नेरी ने कहा कि देश का संविधान खतरे में हैं। उन्होंने केंद्र सरकार को आईना दिखाते हुए कहा कि विकास के नाम पर मानवाधिकारों को कुचला जा रहा है।

लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं
आर्कबिशप नेरी ने अपने पत्र में लिखा कि आज संविधान खतरे में है, यही वजह है कि लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। चुनाव लगातार नजदीक आ रहा है, ऐसे में हमें संविधान और मानवाधिकार की रक्षा के लिए सख्त कार्य करने की जरूरत है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि इन दिनों देश में एक खास प्रकार की संस्कृति को उभारा जा रहा है। उन्होंने कहा-हाल में देश में एक नया ट्रेंड जन्म ले रहा, जो कौन क्या खाएगा, पहनेगा, कैसे पूजा करेगा और रहन-सहन तय करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि विकास के नाम पर अल्पसंख्यकों को उनकी जमीनों से वंचित किया जा रहा है। विकास का सबसे पहला पीड़ित गरीब होता है।

इससे पहले दिल्ली के आर्कबिशप ने भी 2019 चुनावों को देखते हुए देश के लिए दुआ करने की अपील की थी। उन्होंने बाद में अपने इस बयान पर सफाई देते हुए कहा था उन्होंने पत्र में किसी का नाम नहीं लिया था।

Related Articles