सेना ने अरुणाचल के जगलों में लगी आग को बुझाकर बड़ी तबाही को बचाया

ईटा नगर : देश पर आने वाले हर संकट के सामने भारतीय सेना (Indian Army) के जवान फौलाद बन कर खड़े हो जाते है। चाहे कश्मीर (Kashmir) की दुर्गम पहाड़ियों पर देश के दुश्मनों से लोहा लेना हो, या चाहे पूर्वोत्तर की सीमाओं की दुश्मनों से रक्षा करनी हो। दुश्मन देश से रक्षा के साथ सेना के शूरवीर प्राकृतिक आपदाओं (Natural disasters) के सामने भी चट्टान बन खड़े हो जाते हैं। उत्तराखंड (Uttarakhand) में हिमस्खलन के बाद सेना युद्ध स्तर पर बचाव कार्य में लगी ही है, वहीँ दूसरी तरफ सेना ने अरुणांचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में पराक्रम दिखाकर बड़ी तबाही को बचा लिया।

भारतीय सेना (Indian Army) ने रविवार को अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम कामेंग, मिर्चम मठ के पास जंगल की आग को नियंत्रित करने में वन अधिकारियों की सहायता की।

इसे भी पढ़े: AIMIM भारतीय संविधान के साथ हिंदू राष्ट्रवाद का सामना करेगी-ओवैसी

भारतीय सेना के पूर्वी कमान ने ट्वीट करके बताया कि सेना और वन अधिकारियों के समन्वित प्रयासों और त्वरित प्रतिक्रिया से बड़ी तबाही को बचा लिया।

पूर्वी कमान ने बताया कि भारतीय सेना ने चिली के मठ, पश्चिम कामेंग, अरुणाचल प्रदेश में जंगल की आग को नियंत्रित करने में वन अधिकारियों की सहायता की। एक अच्छी तरह से समन्वित और त्वरित प्रतिक्रिया ने बड़ी तबाही को बचा दिया, जिससे जान और माल की बचत हुई।

Related Articles

Back to top button