शपथ ग्रहण से ठीक पहले खड़ी हुई सबसे बड़ी मुसीबत, अब कैसे शपथ लेंगे कुमारस्‍वामी

कुमारस्‍वामीबेंगलुरू। कर्नाटक में बुधवार को एच डी कुमारस्‍वामी सीएम पद की शपथ लेने वाले हैं। लेकिन इससे पहले कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन के लिए एक बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है। दरअसल कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि पहले स्‍पीकर का चुनाव होगा, फिर फ्लोर टेस्‍ट और इसके बाद मंत्रियों पर चर्चा की जाएगी।

खड़गे के इस बयान से पहले खबरें आ रही थीं कि कांग्रेस के कई विधायक मंत्री पद को लेकर नाराजगी जाहिर कर सकते हैं। वहीं खबरें ये भी थीं कि राज्‍य में उप मुख्‍यमंत्री के नाम पर भी आपसी सहमति नहीं बन पा रही है। अब ऐसे में कुमारस्‍वामी के सामने सबसे बड़ी मुश्किल यह होगी कि वह अपनी सरकार में बगावत को कैसे रोकते हैं।

आपको बता दें कि अब तक जेडीएस के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के खाते से डिप्टी सीएम बनाए जाने का फॉर्मूला बनाया गया था। लेकिन इस बीच लिंगायत समुदाय से आने वाले विधायक को भी डिप्टी सीएम का पद देने की मांग उठने लगी है।

वहीं इसके बाद ये भी माना जा रहा है कि आज की मीटिंग दो डिप्टी सीएम की नीति पर भी विचार हो सकता है। हालांकि इन सबके बीच कांग्रेस के जी. परमेश्वर डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे हैं। हालांकि, मंत्री पद को लेकर विधायकों की नाराजगी से बचने के लिए कांग्रेस-जेडीएस ने एक और योजना भी तैयार की है।

Related Articles