अमेरिकी संसद में डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald trump) समर्थकों की खूनी हिंसा, गृहयुद्ध की आशंका से सहमी दुनिया

डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के समर्थको के इस हिंसक प्रदर्शन से अब तक चार लोगो की मौत हो चुकी है। 

वाशिंगटन: अमेरिका (America) के इतिहास में अब 6 जनवरी को साल 2021 के बाद से शायद एक काले अध्याय के रूप में याद किया जाएगा । डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के समर्थको के इस हिंसक प्रदर्शन से अब तक चार लोगो की मौत हो चुकी है।

माजूदा राष्ट्रपति (President) डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक देश की संसद में घुस गए और हिंसा शुरू कर दी। ट्रंप को राष्ट्रपति चुनाव में मिली हार से बौखलाए उनके समर्थकों ने ऐसा कदम उठाया कि पूरी दुनिया लोकतंत्र (Democracy) पर इस वार से सकते में आ गई है।

लोकतंत्र के मंदिर पर हमला बोल, खुनी हिंसा 

प्रदर्शनकरियो ने हिंसा को इस तरह बढ़ा दिया कि लोगो ने लोकतंत्र के मंदिर पर हमला बोल दिया जिसके बाद पुलिस ने भी लोगो को रोकने की कोशिश की जिसमे गोली लगने से एक महिला प्रदर्शनकारी की मौत हो गई।

अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन (Washington) में पुलिस ने चुनाव प्रदर्शन में 52 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वाशिंगटन मेट्रोपॉलिटन (Metropolitan) पुलिस विभाग के प्रमुख रॉबर्ट कॉन्टे ने बुधवार को संवाददाताओं में कहा, “हमें पांच हथियार बरामद हुए है और करीब 52 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।”

राष्ट्पति ट्रंप के विरोधियों ने इसे गृहयुद्ध छेड़ने का प्रयास कहा 

डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों की इस हिंसा के बाद अब संसद भवन के अंदर बड़े पैमाने पर सुरक्षा बल तैनात कर दिए गए हैं और कार्यवाही अब फिर से शुरू हो गई है। उधर,ट्रंप के विरोधियों ने इसे गृहयुद्ध (Civil war) छेड़ने का प्रयास करार दिया है। इस बीच दुनियाभर के नेता इस हिंसा की आलोचना करते नज़र आरहे है।

यह भी पढ़े:ईरान के परमाणु वैज्ञानिक (Nuclear scientist) की हत्या में शामिल लोगो की पहचान हुई

 

Related Articles

Back to top button