दूल्हे को नहीं मिली दुल्हन, रात भर बाराती खोजते रहे दुल्हन का घर

बाराती बैंड बाजे के साथ बारात लेकर पूरी रात दुल्हन का घर खोजते रहे। रात बीत गई लेकिन दुल्हन का घर नहीं मिला और बीना दुल्हन के ही बारात वापस चली गई। 

आजमगढ़: शादी की सहालक बीते दिनों काफी तेज थी और शादियों की अक्सर कई तरह की खबरें सामने आती है। वही यूपी के आजमगढ़ से चौका देने वाली खबर आ रही है कि बाराती बैंड बाजे के साथ बारात लेकर पूरी रात दुल्हन का घर खोजते रहे। रात बीत गई लेकिन दुल्हन का घर नहीं मिला और बीना दुल्हन के ही बारात वापस चली गई।

जानकारी के मुताबिक कांशीराम कॉलोनी के रहने वाले एक युवक की शादी छतवारा की रहने वाली एक महिला ने मऊ जिले के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के राजीपुर में एक लड़की से तय कराई थी। जब लड़के का लड़की से रिश्ता तय हुआ तब उसके घर पर नहीं बल्कि नरौली स्थित एक दुकान पर दिखाई हुई थी। शादी को लेकर दोनों पक्षों में बातचीत हुई फिर रिश्ता पक्का हो गया और शादी का शुभ मुहर्त 10 दिसंबर रखा गया।

लड़के वालो ने आरोप लगाया है कि लड़की वालों ने शादी में लगने वाले गाजे-बाजे और लाइट आदि की व्यवस्था के लिए लड़के वालों से 20 हजार रुपये लिए थे।10 दिसंबर की रात कांशीराम से बारात बैंड बाजे के साथ रानीपुर पहुंची तो वहां न तो कोई मंडप दिखा और न ही लड़की का घर। पूरा बाराती लड़की के परिवार वालो का कोई अता-पता नहीं चला है।

ये भी पढ़ें : अमेरिका लड़ेगा कोरोना से जंग, आज से लगेगा कोरोना का टिका

पूरी रात बाराती लड़की व उसके परिजनों की खोज करते रहे लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। थक हारने के बाद अगले दिन रविवार की सुबह बारात बैरंग वापस लौट आई। इसके बाद गुस्साए लड़के के परिजनों ने उसी महिला को घर बुलाकर बंधक बना लिया जिसने शादी तय कराई थी। उसके बाद उसकी जमकर पिटाई की गई।

ये भी पढ़ें : अरुणाचल: हिंसा के बाद विजयनगर में स्थिति सामान्य, 24 लोग गिरफ्तार

पुलिस बंधक महिला को ले गई कोतवाली

महिला के बंधक होने की जानकारी मिलने के बाद कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और बंधक बनी महिला को कोतवाली ले आई। उसके साथ युवक की मां और अन्य लोग भी कोतवाली पहुंच गए। महिला से पूछताछ करके पुलिस मामले की तफ्तीश करने में जुटी है।

Related Articles

Back to top button