राजस्थान में जमा देने वाली ठण्ड का क़हर

चार स्थानों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से नीचे दर्ज किया गया, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ।

जयपुर: राजस्थान ( Rajasthan ) में कड़ाके की सर्दी का दौर जारी हैं और आज दूसरे दिन भी पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंटआबू ( Mountabou )  सहित चार स्थानों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से नीचे दर्ज किया गया, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ।

राज्य में चार स्थानों सिरोही जिले में स्थित माउंटआबू, चूरू, सीकर जिले के फतेहपुर और जयपुर जिले के जोबनेर में न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से नीचे दर्ज किया गया। इनमें माउंटआबू सबसे अधिक ठंडा स्थान रहा और लगातार दूसरे दिन भी न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से चार डिग्री सेल्सियस ( °C ) नीचे रिकॉर्ड किया गया।

तीन डिग्री सेल्सियस ( 3°C )  नीचे रहा

इसी तरह फतेहपुर में न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु शून्य डिग्री से तीन डिग्री सेल्सियस नीचे रहा। हालांकि फतेहपुर में कल के न्यूनतम तापमान में मामूली 0़ 2 डिग्री गिरावट आई। जोबनेर में भी न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। जोबनेर में न्यूनतम तापमान मंगलवार से 0़ 4 डिग्री कम दर्ज होने से आज ठंडा ज्यादा रहा जबकि चुरु में न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से 1़ 5 डिग्री सेल्सियस नीचे रिकॉर्ड किया गया।

इसके अलावा प्रदेश के करीब एक दर्जन स्थानों पर न्यूनत तापमान पांच डिग्री से नीचे रहने तथा आधा दर्जन से अधिक जगहों पर न्यूनतम तापमान पांच से आठ डिग्री सेल्सियस तक रहने से लोग कड़ाके की सर्दी से ठिठुरते नजर आये। लोग जगह जगह अलाव लगाकर तेज सर्दी से बचने का प्रयास करते भी नजर आये। राज्य में झुंझुनूं ( Jhunjhunu ) का पिलानी क्षेत्र भी काफी ठंड रहा रहा जहां न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस रहा।

न्यूनतम तापमान

इसी तरह भीलवाड़ा में न्यूनतम तापमान 1.8, पाली में 2.8, सीकर में तीन, उदयपुर एवं टोंक जिले के वनस्थली में 3़ 6, श्रीगंगानगर में 3.9, चित्तौड़गढ़ में 3.8, कोटा में 4.4, अलवर एवं सीमांत जैसलमेर में 4.6 एवं सवाईमाधोपुर में पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजधानी जयपुर में भी काफी सर्दी महसूस की गई और जयपुर में न्यूनतम तापमान जयपुर 5.1 डिग्री सेल्सियस रहा।

इसके अलावा बूंदी में 5.5, बीकानेर में 5.8, अजमेर में 6.8, बाड़मेर में 6.9 एवं जोधपुर में न्यूनतम तापमान 7.5 डिग्री सेल्सियस रहा। प्रदेश में कड़ाके की सर्दी पड़ने से सुबह घरों में बाहर रखे बर्तनों, वाहनों तथा पेड़ एवं झाड़ियों पर बर्फ की परतें एवं बूंदे जमी देखी गई। मौसम विभाग के अनुसार आगामी दो दिन तक कड़ाके की सर्दी का दौर जारी रहने की संभावना हैं।

यह भी पढ़े: देश में बढ़ते कोरोना ( Corona ) के नये वैरिएंट ने बढ़ाई चिंता

Related Articles