कुत्तों का रंग हो रहा है नीला, वजह जानकर उड़ जाएंगे होश 

नई दिल्ली: अपने काले भुरे रंग के कुत्ते देखें होंगे पर अगर में आपसे कहु की नीले रंग के कुत्ते भी देखें गए तो आप नहीं मानेगें पर ऐसा हुआ है। रूस (Russia) के एक शहर में नीले और हरे रंग के कुत्ते देखने को मिल रहे हैं। ऐसा नहीं है कि उनका यही रंग था, वो पहले भूरे या किसी अन्य रंग के थे। राजधानी मॉस्को से 370 किलोमीटर पूर्व दिशा में जेरजिंस्क (Dzerzhinsk) नाम का शहर है। सरकारी मीडिया संस्थान रिया नोवोस्ती ने रिपोर्ट की है कि यह नीला और हरा रंग कुत्तों के ऊपर नुकसानदेह रसायनों की वजह से चढ़ रहा है। ये कुत्ते एक खाली पड़े केमिकल प्लांट में मौजूद रसायनों की वजह से अपना रंग बदल रहे हैं।

द मॉस्को टाइम्स के अनुसार केमिकल प्लांट मेँ पहले प्लेक्सीग्लास (Plexiglass) और हाइड्रोसाइनिक एसिड (Hydrocyanic Acid) का उत्पादन होता था।जिसकी वजह से वहां के पानी में हाइड्रोजन सायनाइड (Hydrogen Cyanide) मिल गया, यह एक बेहद जहरीला रसायन है, जो कई तरह के घातक पॉलीमर्स को आगे बढ़ाने का काम करता है।

वैज्ञानिक क्या कहते है इस मामले में

वैज्ञानिकों का मानना है कि कुत्तों के फर यानी उनके झबरीले बाल पर जिस रसायन की वजह से रंग बदला है वो कॉपर सल्फेट (Copper Sulphate) है। यह एक ऐसा अकार्बनिक रसायन है जिसकी वजह कुत्तों के फर का रंग बदल रहा है। इस रसायन का उपयोग कई तरह के औद्योगिक प्रक्रियाओं में होता है। हालांकि, वैज्ञानिक अभी तक यह नहीं पता कर पाए हैं कि कुत्तों पर नीला रंग चढ़ने की सही वजह क्या है। लेकिन यह कुत्तों के स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल रहा है।

भारत में भी देखें जा चुके है नीले कुत्ते

इससे पहले साल 2017 में भारत के मुंबई में नीले रंग के कुत्ते नजर आए थे, ये कुत्ते उस नदी में नहाकर निकले थे, जिनमें एक स्थानीय फैक्ट्री द्वारा क्लोराइड भारी मात्रा में फेंका जाता था। हालांकि, बाद में फैक्ट्री को बंद कर दिया गया था. यह घटना मुंबई तालोजा इंडस्ट्रियल इलाके में स्थित कसादी नदी की है।

यह भी पढ़ें:कांग्रेस मुख्यालय में प्रियंका की अहम बैठक, चुनावी रणनीतियों पर हो रही चर्चा

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles