सरकारी स्कूल पर चढ़ा मदरसे का रंग, प्राथमिक विघालय पर लिखा दिया ‘इस्लामिया प्राइमरी’

0

देवरिया। मामला उत्तर प्रदेश के देवरिया जिला का है जहां एक प्राथमिक विघालय को निजी मदरसे की तर्ज पर चलाया जा रहा था। बताया जा रहा है कि इस प्राथमिक विघालय में रविवार की जगह शुक्रवार को साप्ताहिक अवकाश रहता था। इस मदरसे का खुलासा तब हुआ जब देवरिया जिले डीएम ने यहां की जांच करवाई।

जांच के बाद पता चला कि यहां के सारे दस्तावेज उर्दू में अपटेड किए जाते थे। साथ ही साप्ताहिक अवकाश भी शुक्रवार को दिया जाता था। जांच के पश्चात जिले के डीएम ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को पूर्णता जांच के सख्त आदेश दिए। साथ ही इस प्राथमिक विघालय की पूरी जांच को सख्ती से करने के आदेश, साथ ही इस पर कड़ी कार्रवाई करने भी आदेश दिए हैं। प्रधानाचार्य खुर्शीद अहमद ने अपनी सफाई में कहा,”स्कूल में मेरी तैनाती साल 2008 में की गई थी। तभी से मैं इसी तरह काम करता चला आ रहा हूं। स्कूल के 95 फीसदी बच्चे मुसलमान हैं, इसलिए उनकी सहूलियत के मुताबिक मैंने ये किया था।”

डीएम के एक बयान के मुताबिक ”इस मामले में बीएसए से रिपोर्ट मांगी गई है। ये गंभीर मामला है। स्कूल को बिना किसी आदेश या निर्देश के शुक्रवार को बंद रखा जा रहा था जबकि रविवार को खोला जा रहा था। ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ज्ञान चंद मिश्र ने बताया,”टीम शुक्रवार की सुबह स्कूल का निरीक्षण करने के लिए गई थी। टीम ने पाया कि स्कूल बंद है। स्कूल की इमारत पर प्राथमिक विद्यालय, नवलपुर के स्थान पर इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय, नवलपुर लिखा गया है।”

loading...
शेयर करें