कांग्रेस ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा, पीएम मोदी और अमित शाह के खिलाफ है मामला

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है। कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने आरोप लगाया है कि इन दोनों ने आदर्श आचार संहिता का उल्लघंन किया है और सुप्रीम कोर्ट चुनाव आयोग को इस मामले में दिशा-निर्देश प्रदान करे।

इस मामले में मंगलवार को सुनवाई की जाएगी। अपनी याचिका में सुष्मिता देव ने आरोप लगाया है कि दोनों के खिलाफ कई शिकायतें होने के बावजूद चुनाव आयोग ने कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की है। यह बात सार्वजनिक रूप से जगजाहिर है कि दोनों नफरत फैलाने वाले शब्दों को अपने भाषण में इस्तेमाल कर रहे हैं और चुनाव आयोग की रोक के बावजूद सेना के पराक्रम का राजनीतिक उपयोग कर रहे हैं। इसके साथ यह भी आरोप लगाया कि पीएम मोदी ने 23 अप्रैल को गुजरात में मतदान वाले दिन भी आदर्श आचार संहिता का उल्लघंन किया है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने अभिषेक मनु सिंघवी ने आरोप लगाया कि आदर्श आचार संहिता मोदी आचार संहिता बन गई है। यह बड़े दुख के साथ कहने में आता है कि इलेक्शन कमीशन के सेकंड लेटर में से ‘सी’ हट गया है और उसकी जगह ईओ यानी ‘इलेक्शन ओमीशन’ ने ले ली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पिछले 5 से 6 सप्ताह में 37 प्रतिवेदन दिए हैं जिसमें नफरत फैलाने वाले भाषण, ध्रुवीकरण और विभाजनकारी भाषण के आरोप शामिल है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने भी चुनाव आयोग पर पक्षपात का आरोप लगाया है और कहा है कि उसका रवैया भाजपा के प्रति पक्षपात करने वाला है। चुनाव आयोग सत्तारुढ़ दल के खिलाफ कोई कार्रवाई करने में उदासीन रवैया अपना रहा है।

Related Articles