देश में जीवन पटरी पर, कोरोना को मात देने वालों की दर 93 फीसदी

देश में कोरोना वायरस को मात देने वालों की दर 93 फीसदी

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस (कोविड-19) से स्वस्थ होने के मामलों में तेजी के कारण रिकवरी रेट 93 फीसदी हो गया है और मृत्यु दर घटकर 1.47 प्रतिशत रह गयी है। जांच की मुहिम में 14 लाख 92 हजार 409 नमूनों की जांच का रिकार्ड है।

कल्याण मंत्रालय के अनुसार आंकड़े

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार 49,079 लोग स्वस्थ हुए, जिससे इस महामारी को मात देने वालों की दर 92.97 फीसदी पर पहुंच गयी। वहीं मृत्यु दर घटकर 1.47 प्रतिशत पर आ गयी। संक्रमण से निजात पाने वालों की संख्या 81.15 लाख से ज्यादा हो गयी है।

संक्रमण के नये मामले

संक्रमण के नये मामलों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या अधिक रहने से 4,747 कमी के बाद ये 4,84,547 रह गये हैं तथा इनकी दर 5.55 प्रतिशत पर आ गयी है। इस दौरान देश में संक्रमण के 44,878 नये मामले सामने आये , जिससे संक्रमितों की संख्या बढ़कर करीब 87.29 लाख हो गयी।

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण

कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण के नये मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या अधिक रही, जिससे सक्रिय मामले 3,435 घटकर 85,583 पर आ गये। वहीं 122 मरीजों की मौत होने से राज्य में मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 45,682 हो गया है। राज्य में अब तक 16.05 लाख से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात दी है।

(ICMR) के आंकड़े

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के जारी आंकड़ों में बताया गया कि 12 नवंबर तक कुल जांच का आंकड़ा 12 करोड़ 31 लाख एक हजार 739 पर पहुंच गया है। इसमें कल 11 लाख 39 हजार 230 जांच की गई। देश में प्रति दस लाख की आबादी पर औसतन जांच भी 89,007 पर पहुंच गई है।

नमूनों की जांच का रिकार्ड

कोरोना वायरस के बड़े स्तर पर फैलाव की रोकथाम के लिये देश में दिन प्रतिदिन इसकी अधिक से अधिक जांच की मुहिम में 24 सिंतबर को एक रोज में 14 लाख 92 हजार 409 नमूनों की जांच का रिकार्ड है।

यह भी पढ़े:ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण ने तोड़ा रिकॉर्ड, 33,470 नए मामले

यह भी पढ़े:बुर्किना फासो में आतंकी हमला, 14 जवान शहीद, 9 आतंकवादी ढेर

Related Articles