#PathankotAttack : देश ने एक लेफ्टिनेंट कर्नल सहित खो दिए 7 जांबाज

terror_145178789654_650x425_010316075620पठानकोट/नई दिल्ली। नए साल के दूसरे ही दिन आतंकवादियों ने पंजाब के पठानकोट में एयरफोर्स स्‍टेशन को अपना निशाना बनाया। 35 घंटों से जारी इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों की जांबाजी ने 5 आतंकियों को ढेर कर दिया। हालांकि अभ्‍ाी मिली जानकारी के मुताबिक दो आतंकी अभी भी एयरबेस के अन्‍दर छिपे हैं। वहीं देश ने इस मुठभेड़ में अपने 7 जांबाज जवान भी खो दिए। इसमें सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन ई कुमार भी शहीद हो गए।

कौन हैं निरंजन ई कुमार

निरंजन ई कुमार एनएसजी में बम डिफेंस डिफ्यूज़ स्क्वायड में सेना से डिप्यूटेशन पर आए थे। आज सुबह एयरफोर्स बेस में तलाशी के दौरान IED ब्लास्ट हुआ था जिसमें दो जवान घायल हुए थे लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन ई कुमार इन्हीं में एक थे। अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया।  लेफ्टिनेंट कर्नल के साथ इस हमले में एक एयरफोर्स के कमांडो और डिफेंस सर्विस कोर के 5 गार्ड भी शहीद हो गए।

हालांकि पठानकोट में ऑपरेशन अभी जारी है बताया जा रहा है कि यहां दो और आतंकी छिपे हुए हैं। सेना उनकी तलाश में सर्च आपरेशन चला रही है। साथ ही वायुसेना भी हवाई मार्ग से सर्च ऑपरेशन में मदद कर रही है। सुबह होते ही यहां वापस फिर से फायरिंग शुरू हो गई।

आतंकियों से मुठभेड़ में 12 लोगों के जख्मी होने की भी खबर है। खुफिया एजेंसियों को पठानकोट हमले के आतंकियों के फोन कॉल डीटेल मिले हैं। इसके तहत हमले से ठीक पहले रात डेढ़ से पौने दो बजे के बीच आतंकियों ने पाकिस्तान में चार फोन कॉल किए थे।

जानकारी के मुताबिक चार आतंकियों के शव को बरामद कर लिए गए हैं। बताया जाता है कि सभी आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के हैं। एयरफोर्स स्टेशन को सेना और पारा कमांडो ने सील कर दिया है ताकि अगर कोई आतंकी छिपने में कामयाब रहा है तो वह भाग न सके। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस बाबत ट्विटर पर लिखा है कि देश को अपने बहादुर सैनिकों पर गर्व है।

खबरों के मुताबिक आतंकी एके-47, हैण्ड ग्रेनेड, जीपीएस सिस्टम समेत भारी गोला बारूद से लैश थे, लेकिन मुस्तैद सुरक्षा बलों ने उनके हमले को नाकाम कर दिया। आतंकवादी शनिवार तड़के 3 बजे लैंड क्रूजर और पजेरो गाड़ी से पठानकोट एयरबेस पहुंचे थे। आतंकियों की पाकिस्तान के बहावलपुर में 6 महीने तक ट्रेनिंग हुई और वे अल रहमान ट्रस्ट से जुड़े हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button