देश की पहली प्राइवेट ट्रेन की रफ़्तार थमी, बंद होगी तेजस एक्सप्रेस, ये है वजह

भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन को बंद करने का कारण यात्रियों की संख्या में कमी बताई जा रही है. कोरोना काल में तेजस को यात्री नसीब नहीं हुए जिससे इसे काफी नुक्सान हुआ है.

नई दिल्ली: प्राइवेट ट्रेन के नाम से देश की रेलवे लाइन पर उतरी पहली भारतीय निजी ट्रेन तेजस की रफ़्तार अब थमने वाली है. तेजस के संचालन पर अब ग्रहण लग गया है. लखनऊ से दिल्ली और मुंबई से अहमदाबाद दौड़ने वाली तेजस एक्सप्रेस का संचालन बंद करने का रेलवे बोर्ड ने फैसला किया है.

मिल रही जानकारी के मुताबिज 23 नवंबर 2020 से इसे बंद किया जा रहा है. नई दिल्ली-लखनऊ के बीच दौड़ लगाने वाली तेजस एक्सप्रेस का संचालन आगामी 23 नवंबर से जबकि अहमदाबाद-मुंबई के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस का संचालन आगामी 24 नवंबर से बंद होगा. बता दें कि तेजस एक्सप्रेस का संचालन IRCTC कर रहा है.

प्राइवेट ट्रेन को नहीं मिल रहे यात्री

भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन को बंद करने का कारण यात्रियों की संख्या में कमी बताई जा रही है. कोरोना काल में तेजस को यात्री नसीब नहीं हुए जिससे इसे काफी नुक्सान हुआ है. यात्रियों की संख्या में कमी से रेलवे को इस ट्रेन के संचालन कोई खास आमदनी नहीं हो रही है.

IRCTC ने यात्रियों के इसके प्रति कम रुझान को देखते हुए इस ट्रेन को निरस्त करने के लिए पत्र लिखा था. इसके बाद रेलवे बोर्ड ने 23 नवंबर से अगले आदेश तक तेजस ट्रन की सभी सेवाओं को रद्द करने का फैसला किया. बता दें कि अक्टूबर 2019 में देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की शुरु की गई थी थी.

कब शुरू हुई थी तेजस एक्सप्रेस?

लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस अक्टूबर, 2019 में IRCTC ने शुरू की थी. इसेक बाद अहमदाबाद-मुंबई के बीच इसी साल जनवरी 2020 में तेजस एक्सप्रेस का संचालन हुआ.

बता दें की अभी हाल फिलाल में रेलवे ने 17 अक्टूबर यानी नवरात्र के पहले दिन तेजस ट्रेन का पुन: संचालन किया था. कोरोना महामारी के बाद लॉकडाउन की वजह से तेजस एक्सप्रेस 19 मार्च यानी करीब सात महीने से बंद थी.

ये भी पढ़ें : कंप्यूटर बाबा को नहीं मिलेगी लक्ज़री गाड़ी, हिस्ट्रीशीटर के अवैध निर्माण पर चला बुलडोजर

Related Articles

Back to top button