देश का पहला रोबोट पुलिस अधिकारी ड्यूटी के लिए तैयार, ये हैं इसमें खूबियां

0

नई दिल्ली: सब इंस्पेक्टर केपी-बोट! किसी पुलिस अधिकारी का यह नाम आपको अनोखा लग रहा होगा। बात भी अनोखी है। केपी-बोट किसी इंसानी पुलिसकर्मी का नाम नहीं है। यह एक मानव जैसा (ह्युमनॉयड) रोबोट है। दरअसल देश में पहली बार पुलिस में रोबोट का इस्तेमाल किया गया है। ये पहल केरल पुलिस ने की है। दुबई और चीन भी इस तरह के रोबोट पुलिस की टीम में शामिल कर चुके हैं। केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने मंगलवार को देश के पहले रोबोट पुलिसकर्मी का अनावरण किया। इस रोबो ने उन्हें सैल्यूट कर अपनी मुस्तैदी का परिचय दिया।

मानव की तरह करेगा काम
केरल पुलिस के एडीजीपी मनोज अब्राहम के अनुसार इस रोबोट का इस्तेमाल मुख्यालय में उपलब्ध सेवाओं की जानकारी देने में होगा। यह यहां आने वाले आगंतुकों की शिकायतों का रिकॉर्ड रखेगा। जिसे कभी भी देखा जा सकेगा।

विस्फोटकों की करेगा पहचान
तेजी से बढ़ती आतंकी गतिविधियों से हर साल बड़ी संख्या में जानमान का नुकसान होता है। विस्फोटकों की समय पर पहचान होने पर जान और माल का नुकसान बचाया जा सकता है। भविष्य में केपी-बोट को विस्फोटकों की पहचान करने में सक्षम रोबोट के तौर पर भी विकसित करने की योजना है।

बढ़ते कदम…
केपी-बोट को कोच्चि स्थित स्टार्टअप वेंचर एसीमोव रोबोटिक्स प्राइवेट लिमिटेड और साइबरडोम ने डिजायन किया है। साइबरडोम केरल पुलिस का एक तकनीकी अनुसंधान और विकास केंद्र है। ये सफल निर्माण आधुनिक भारत के तकनीकी उन्नति के नए मायने गढ़ रहा है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में अन्य प्रदेशों में भी इस तरह के रोबोट को पुलिस टीम में भर्ती किया जा सकेगा।

रोबोकॉप था पहला पुलिस अधिकारी
दुबई पुलिस में 22 मई 2017 को दुनिया के पहले रोबोट पुलिस अफसर की नियुक्ति हुई थी। इसका नाम रोबोकॉप था। यह लोगों से बातचीत करने, छह भाषाएं बोलने, लोगों के प्रश्नों के उत्तर देने और उन्हें सैल्यूट करने में सक्षम था। केपी-बोट को दुनिया का चौथा रोबोट पुलिसकर्मी बताया जा रहा है।

loading...
शेयर करें