IPL
IPL

बीजिंग की अदालत ने सुनाया ऐसा ऐतिहासिक फैसला की पति के उड़ गए होश

बीजिंग: चीन में तलाक के लिए दायर याचिका में बीजिंग (Beijing) की अदालत (Court) ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। सुनवाई के दौरान अदालत (Court) ने कहा है कि अपनी पत्नी को तलाक देने के बाद पुरुष को शादीशुदा जिंदगी के समय गृहकार्य करने के एवज में 50 हजार युआन (7700 डॉलर) का भुगतान करने होगा। फैसला सुनाते वक्त अदालत ने कहा, ये भुगतान “अवैतनिक श्रम” के लिए महिला का होगा क्योंकि एक जोड़े के रूप में दोनों शादीशुदा थे। कोर्ट में हुई ये सुनवाई एक तरह का ऐतिहासिक फैसला है।

अदालत का फैसला

अदालत का कहना है कि, साल 2020 में वांस सरनेम वाली पत्नी से तलाक लेने के लिए एक शख्स ने कोर्ट में अपील किया था और इसकी पत्नी इस तलाक के खिलाफ है। इन दोनों की शादी 2015 में हुई थी। महिला ने इसके बाद अपने वकील के माध्यम से कोर्ट में मुआवजे की गुजारिश की। उसने कोर्ट से उसके पति ने शादीशुदा जिंदगी में घर का कोई भी काम नहीं किया, कोई जिम्मेदारी नहीं उठाया और ना ही अपने बेटे का ख्याल रखा। इस दलील को सुनने के बाद कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई के दौरान फैसला सुनाया कि दोनों के बीच संपत्ति को बराबर हिस्सा होगा। इसके साथ फैसला दिया कि वांग अब कानूनी तौर पर अपने पति चेन से अलग हो गई है, इसलिए उसे मुआवजे का भुगतान करना होगा।

ये भी पढ़ें : लॉकडाउन के दौरान पकड़े गए 51 तबलीगी जमात के मेहमानों ने कबूला जुर्म

1088 के तहत सुनाया फैसला

अदालत में जज फेंग मिआओ ने कहा कि ये फैसला पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के सिविल कोड के आर्टिकल 1088 के तहत सुनाया गया है। चीन का ये नया सिविल कोड पिछले साल लागू हुआ था। कोर्ट ने दोनों के तलाक मंजूर करते हुए, इन दोनों के बीच साझा संपत्ति को बराबर-बराबर हिस्से में बांट दिया है।इस फैसले के मुताबिक, अब पति को अपनी तलाकशुदा पत्नी को गृह कार्य के लिए 50 हजार युआन का मुआवजा देना होगा। इस फैसले के बाद से सोशल मीडिया पर चर्चा का माहौल गर्म हो गया।

ये भी पढ़ें : यूपी: विधानसभा से मिली लव जिहाद विधेयक को मंजूरी, अगर विधान परिषद में हुआ पास तो बन जायेगा कानून

Related Articles

Back to top button