श्रीनगर के इस मशहूर गार्डन में कभी जुटती थी लाखों की भीड़, आज है सन्नाटा

ठंड के मौसम में लोग बर्फ का मजा लेने के लिए घाटी का रुख करते हैं। वहीं बसंत के बाद ट्यूलिप के खूबसूरत फूलों को देखने के लिए पर्यटक जम्मू-कश्मीर पहुंचते हैं। राज्य की राजधानी श्रीनगर के इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्यूलिप गार्डन में एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप फेस्टिवल लगता है।
यह फेमस ट्यूलिप गार्डन इस साल भी फूलों से गुलजार है, लेकिन दुनिया भर में लॉकडाउन के कारण इन फूलों को देखने के लिए यहां पर्यटक नहीं पहुंचे हैं। कश्मीर के इस बेहद खूबसूरत ट्यूलिप गार्डन को देखने का बेस्ट टाइम मार्च से मई तक होता है।

श्रीनगर में हर साल अप्रैल में ट्यूलिप फेस्टिवल मनाया जाता है जिसका आयोजन कश्मीर टूरिजम बोर्ड करता है। आपको जान कर हैरानी होगी कि यह ट्यूलिप गार्डन एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन है।

श्रीनगर मे इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्यूलिप गार्डन में हर साल एक महीने के लिए ट्यूलिप फेस्टिवल मनाया जाता है, जिसके लिए डिपार्टमेंट ऑफ फ्लॉरिकल्चर पूरे साल मेहनत करता है।

ज़बरवान पर्वतमाला के दामन में लगभग 12 हेक्टेयर में फैला यह बटैनिकल गार्डन बहुत खूबसूरत है। हर साल ट्यूलिप गार्डन में 15 लाख से ज्यादा ट्यूलिप लगाए जाते हैं। इस ट्यूलिप गार्डन की स्थापना सन 2008 में की गई थी। इस गार्डन को देखने लाखों की संख्या में सैलानी हर वर्ष देश-विदेश से आते हैं।

गार्डेन में ट्यूलिप के कई प्रकार देखने को मिलते हैं। स्टैंडर्ड ट्यूलिप, डबल ट्यूलिप, पैरट ट्यूलिप, फ्रिंज्ड ट्यूलिप, सिंगल लेट ट्यूलिप आदि। यहां लगे फव्वारे इस गार्डन को और भी आकर्षक बनाते हैं।

इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्यूलिप गार्डन हर साल एक महीने (अप्रैल) के लिए खोला जाता है उम्मीद करते हैं कि भारत को जल्द ही लॉकडाउन से मुक्ति मिलेगी और ट्यूलिप गार्डन में फिर से लोगों का हुजूम देखने को मिलेगा।

Related Articles