गया रोड रेज मामले पर आज आना है फैसला, बीजेपी नेता के बेटे पर लगा है हत्या का आरोप

0

पटना। बिहार के चर्चित हत्याकांड आदित्य सचदेवा मामले में एक कोर्ट का फैसला आना है। ये एक हाई प्रोफाइल मामला है जिसमें बीजेपी पार्टी की दबंग एमएलसी मनोरमा देवी का नाम भी शामिल हैं। दरअसल हत्या का आरोप मनोरमा के बेटे रॉकी यादव पर लगा है। सबकी निगाहें सिर्फ कोर्ट के फैसले पर टिकी है।

पास न मिलने पर रॉकी यादव ने आदित्य को मारी गोली

मामला 7 मई 2016 का है, जब स्वराजपुरी रोड का रहने वाला आदित्य सचदेवा अपने चार दोस्त अंकित, आयुष, कैफी व नासिर के साथ कार से बोधगया गया था. देर शाम लौटने के क्रम में एक लैंडरोवर गाड़ी उनकी गाड़ी के पीछे थी। लैंडरोवर का चालक लगातार साइड मांग रहा था। इसी क्रम में आदित्य की कार पुलिस लाइन रोड की ओर मुड़ी। पीछा से आ रहा लैंडरोवर कार का चालक भी उसी तरफ प्रवेश कर गयी। लैंडरोवर में सवार लोगों ने आदित्य की कार को रूकवा दिया व उसके दोस्तों के साथ मारपीट शुरू दी।

आदित्य समेत उसके दोस्त डर गये और गाड़ी भगाने का प्रयास किया। इस क्रम में पीछे से गोली चली, जो कार के पिछले शीशे को छेदते आदित्य के सिर में लगी। उसे दोस्तों ने मगध मेडिकल काॅलेज व अस्पताल में भरती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी।

अभी भी जेल में बंद है रॉकी यादव

इस मामले में रॉकी यादव के साथ रहे टेनी यादव और एमएलसी के अंगरक्षक राजेश कुमार को भी जेल भेजा गया था। फिलहाल टोनी यादव और अंगरक्षक बाहर है और रॉकी यादव अभी भी जेल में है। इस मामले में 9 मई 2016 को रामपुर थाना में कांड संख्या 130/16 दर्ज है। 12 मई को रॉकी यादव को गिरफ्तार किया गया था। दोनों पक्षों के सारे बयान दर्ज हो चुके हैं।

मां को कोर्ट से न्याय मिलने की पूरी उम्मीद

आदित्य के साथ गाड़ी में सवार उसके चारो दोस्तों ने घटना का समर्थन तो जरूर किया, परंतु आरोपी के पहचानने के बिंदु पर होस्टाईल हो गए। अदालत में गवाही के दौरान आरोपियों को पहचानने से इनकार कर दिया। मां चांंद सचदेवा को चश्मदीद रहे दोस्तों के गवाही में मुकरने का मलाल है, फिर भी बेटे की हत्या करने वालों को कड़ी सजा मिलने की पूरी उम्मीद जताती है। बताया कि दोस्तों के साथ क्या मजबूरी थी, कानून सब समझ रहा। न्याय के मंदिर से हमेशा रोशनी निकलने की बात कही।

loading...
शेयर करें