धर्मेंद्र को ब्रेक देने वाले इस निर्देशक का हुआ निधन, ऋषि कपूर भी हुए इमोशनल

मुंबई। हिंदी फिल्म जगत को धर्मेन्द्र जैसा सुपरस्टार एक्टर देने वाले निर्देशक निर्माता अर्जुन हिंगोरानी का उत्तर प्रदेश के वृंदावन में 92 साल की उम्र में निधन हो गया। अर्जुन हिंगोरानी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के वृंदावन में अपनी अंतिम सांस ली। पूरे बॉलीवुड में हिंगोरानी के निधन से शोक की लहर फैल गई। अर्जुन हिंगोरानी के निधन से सबसे ज्यादा दुखी धर्मेंद्र हुए हैं। बता दे धर्मेंद्र की पहली फिल्म से ही उनका हिंगोरानी के साथ एक बेहद करीबी रिश्ता था। अर्जुन हिंगोरानी अंतिम संस्कार भी वृंदावन में ही किया गया।अर्जुन हिंगोरानी

अर्जुन हिंगोरानी के निधन से धर्मेंद्र को भी गहरा शोक हुआ हैं। उन्होंने हिंगोरानी के साथ खुद की एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, ‘अर्जुन हिंगोरानी, वो शख्स जिसने मुंबई में अकेले इंसान के कंधे पर हाथ रखा, हमें हमेशा के लिए छोड़ कर चले गए। मैं बहुत दुखी हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। हालांकि, यहां आपको बता दें कि अब तक उनकी मौत का कारण साफ नहीं हो सका है।’

ऋषि कपूर ने भी हिंगोरानी को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने एक ट्वीट करते हुए लिखा, ‘जब भी सेट पर शॉट तैयार किया जाता था, तब वह कहते थे

बॉलीवुड के जाने माने फिल्मकार अर्जुन हिंगोरानी ने कई दशकों तक हिंदी सिनेमा को बेहतरीन और कामयाब फिल्में दीं। हिंगोरानी ने धर्मेंद्र को 1960 में फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ से लॉन्च किया था। हिंगोरानी ने 60 से 90 के दशक के बीच कई फिल्मों का निर्माण और निर्देशन किया था। उन्होंने धर्मेंद्र को लॉन्च करने के बाद उनके साथ कई फिल्में बनाई। सिंध के जैकोबाबाद में जन्में हिंगोरानी विभाजन के बाद 1947 में भारत आ गए थे।

गौरतलब है कि हिंगोरानी अपनी फिल्मों के शीर्षकों में 3(K) का इस्तेमाल करने के लिए जाने जाते थे। 3 (K) के साथ उनका काफी लगाव था, इसलिए उन्होंने अपनी फिल्म ‘सल्तनत’ के प्रमोशन के दौरान उसके साथ कारनामे कमाल के टैगलाइन जोड़ दी थी।

Related Articles