केदारनाथ और यमुनोत्तरी धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद

उत्तराखंड में विश्व प्रसिद्ध 11वें ज्योर्तिलिंग केदारनाथ धाम और मां यमुनोत्तरी धाम के कपाट सोमवार को शीतकाल के लिए बन्द कर दिए गए हैं।

देहरादून: उत्तराखंड में विश्व प्रसिद्ध 11वें ज्योर्तिलिंग केदारनाथ धाम और मां यमुनोत्तरी धाम के कपाट सोमवार को शीतकाल के लिए बन्द कर दिए गए हैं। तड़के तीन बजे से खुले मंदिर में श्रद्धालुओं ने बाबा केदारनाथ के दर्शन किए। इसके पश्चात मुख्य पुजारी शिवशंकर लिंग ने बाबा की समाधि पूजा संपन्न की। और 6.30 बजे मंदिर के गर्भगृह को बंद किया गया। इसके बाद 08.30 बजे सभा मंडप तथा मुख्य द्वार को बंद कर दिया गया।

इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत बीजेपी के मंत्री, नेता और हजारों श्रद्धालु मौजूद रहे। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि इस यात्रा वर्ष में 1,35,023 श्रद्धालुओं ने भगवान केदारनाथ के दर्शन किये। इसी के साथ ही माँ यमुनोत्तरी धाम के कपाट भी अपराह्न 12 बजकर 15 मिनट पर बंद कर दिए गए।

उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन के विशेष कार्याधिकारी जनसंपर्क एवं प्रभारी अधिकारी यमुनोत्री ए.एस.नेगी ने बताया कि यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने के अवसर पर मंदिर को फूलों से सजाया गया था। इस अवसर पर यमुनोत्री मंदिर समिति अध्यक्ष, उप जिलाधिकारी बड़कोट चतर सिंह चौहान, मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल, अनोज उनियाल, आशुतोष उनियाल पुलिस प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी तथा तीर्थ पुरोहित मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि इस यात्रा वर्ष में यमुनोत्री धाम में आठ हजार श्रद्धालु दर्शन को पहुंचे।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी, शाह ने दी सभी देशवासियों को भाईदूज की शुभकामनाएं

Related Articles

Back to top button