छत्तीसगढ़ टेप कांड: इलेक्शन कमीशन ने दिया जांच का आदेश

0

9th-jagran-forum_ee7f2fee-af69-11e5-8782-a7e1fa0485daनई दिल्ली। छत्‍तीसगढ़ टेप कांड में चुनाव आयोग ने बुधवार को राज्‍य के मुख्‍य सचिव को इस मामले में जांच समिति गठित करने का निर्देश दिया है। इसको लेकर मुख्‍य सचिव को सात जनवरी तक अपनी रिपोर्ट सौंपनी है।

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ की राजनीति में टेप कांड से नया भूचाल

दरअसल इस टेप में छत्‍तीसगढ़ में पिछले साल विधानसभा की एक सीट पर हुए उपचुनाव में सौदेबाजी का खुलासा किया गया है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस द्वारा जारी किए गए इस टेप को 2014 का बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ें- छत्‍तीसगढ़ टेप कांडः अजीत जोगी के खिलाफ जारी हुआ नोटिस

वहीं इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ते हए मु्ख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा ये कांग्रेस का अंदरूनी झगड़ा है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मामले की जांच की भी बात कही है।

इससे पहले बुधवार के दिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर मुख्‍यमंत्री रमन सिंह के इस्‍तीफे की मांग की। इस पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि अंतागढ़ में भारी लेनदेन हुआ है। काले धन का उपयोग कर के उसे प्रजातंत्र को कलंकित करने का काम किया गया है। इसके साथ ही बघेल ने अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को कारण बताओ नोटिस जारी करने की बात भी कही।

बघेल ने कहा कि हम राज्यपाल से निवेदन करेंगे की इस सरकार को बर्खास्त करे। नरेंद्र मोदी कहते हैं न खाऊंगा न खाने दूंगा। उन्हीं की पार्टी के मुख्यमंत्री ने न केवल खाया है बल्कि खिलाया भी है। बघेल ने पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी के गठन की मांग की है।

अजीत जोगी और अमित जोगी के मुद्दे पर बोलते हुए बघेल ने कहा कि अमित जोगी को 7 दिन के अंदर कारण बताओ नोटिस का जवाब देना होगा। अजीत जोगी से जानकारी मांगी जायेगी और पार्टी आलाकमान को अवगत कराया जाएगा।

loading...
शेयर करें