जौनपुर में ग्राम न्यायालय के गठन से मिलेगी सहूलियत, ग्राम न्यायालय में होगी मुकदमों की सुनवाई

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर के शाहगंज में ग्राम न्यायालय की शुरुआत होने से क्षेत्र के चार थानों के मुकदमो की सुनवाई अब तहसील परिसर स्थित ग्राम न्यायालय में हो सकेगी।

ग्राम न्यायालय की नव नियुक्त न्यायाधीश पीयूषिका तिवारी ने आज कहा कि ग्राम न्यायालय में परिवारिक विवाद, बीस हजार तक चोरी के मुकदमे, दो हजार मालियत तक के मुकदमे एवं जिसमे दो साल तक के सज़ा के प्रावधान है ऐसे मुकदमे की सुनवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा की भारतीय दंड विधान की धारा 323,504,506 एवं सिविल और क्रिमनल के मुकदमो की भी सुनवाई होगी।

गौरतलब है कि कई वर्षों से शाहगंज में ग्राम न्यायालय की मांग की जा रही थी।ग्राम न्यायालय के गठन से अब तहसील क्षेत्र के निवासी जिनको अपने मुकदमो के पैरवी के लिए चालीस किलो मीटर दूर जिला मुख्यालय जाना पड़ता था अब उनके मुकदमे की सुनवाई यही हो जाएगी। जिससे वादकारियों को समय के साथ पैसों की भी बचत होगी। उधर ग्राम न्यायालयों के गठन का सिविल कोर्ट जौनपुर के अधिवक्ताओं ने विरोध किया है।

 

 ये भी पढ़ें- हेडमास्टर शिल्पी तब भी नहीं रुकी जब सब कुछ थम गया था

Related Articles