निर्भया केस में तीसरी बार बिना फांसी दिए लौटा जल्लाद, फांसी टली

नई दिल्ली:निर्भया केस के दोषियों की फांसी तीसरी बार फिर टलने से जल्लाद पवन फिर से वापस हो गया है। बता दें कि महज 12 घंटों के समय होने पर सोमवार साम को फांसी टाल दी गई। तिहाड़ के अंदर फांसी की सभी तैयारियां पूरी होने के साथ जल्लाद पवन को भी लग रहा था कि अब वो घड़ी आ गयी है। जिसका इंतजार वो लंबे समय से कर रहा था।

दिल्ली की तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चार दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए सभी जरूरी तैयारियां कर ली थी। चारों दोषियों को मंगलवार सुबह फांसी होनी थी लेकिन इससे पहले सोमवार की शाम पटियाला हाउस कोर्ट ने अगले आदेश तक फांसी पर रोक लगा दी थी।

सजा को टालते हुए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने कहा कि राष्ट्रपति के समक्ष लंबित दोषी पवन गुप्ता की दया याचिका के निस्तारण तक फांसी नहीं दी जा सकती। न्यायाधीश ने कहा कि किसी भी दोषी के मन में अपने रचयिता से मिलते समय ये शिकायत नहीं होनी चाहिए कि देश की अदालत ने निष्पक्ष रूप से काम नहीं किया।

सजा टल जाने से अब अदालत के अगले आदेश की जाएगी। जेल में रस्सियों की जांच करने के बाद जल्लाद ने पुतलों को फांसी देने का अभ्यास कर लिया था। मेरठ से आया जल्लाद मंगलवार दोपहर को राष्ट्रीय राजधानी से रवाना हो गया। वह बहुत मायूस था क्योंकि उसे निर्भया के दोषियों की फांसी का इंतजार होने के साथ तीसरी बार फांसी टलने के बाद तिहाड़ से वापस जाना पड़ा।

Related Articles