लाखों की कार से चलने वाले रईसजादों की गिरी हुई हरकत, मजदूरी का पैसा मांगने पर…

लखनऊ: जिंदगी में कितना भी बड़ा से बड़ा समान बिना दाम कम कराए खरीद लेते है लेकिन किसी जरूरत मंद इंसान को देने में झगड़ जाते है, चाहे, वो रिक्शा वाला, मजूदरी या गाड़ी में हवा डालने वाला हो। इससे जुड़ा एक ताजा मामला यूपी की राजधानी लखनऊ से आया है। जहां लाखों की कार से घूमने वाले रईसजादों को टायर में हवा भराने के बाद मजदूरी के चंद पैसे देना भी भरी पड़ गया।

हवा भरने के बाद युवक ने जब पैसे मांगे तो कार सवारों ने उसे पीटा और कार लेकर भागने लगे। उनका पीछा करने जब मजदूर दौड़ा तो उसे पकड़ लिया और चलती कार में करीब 100 मीटर तक खींचते रहे। इसके बाद उसे सड़क पर फेंककर भाग निकले। इस घटना का पूरा दृश्य सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। रात इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने पर मामला अधिकारियों के संज्ञान में आया।

पुलिस कमिश्नर ने दिए निर्देश

पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने इस सीसीटीवी फुटेज को संज्ञान में लेते हुए पारा पुलिस को कार्रवाई करने के निर्देश दिए। गाड़ी नंबर के आधार पर कार सवारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है। मामला पारा क्षेत्र में मोहान रोड स्थित बालाजी पेट्रोल पंप का है।

पूरा मामला

रविवार दोपहर हवा भरवाने के बाद कार सवारों का मजदूर लईक से रुपयों को लेकर विवाद हो गया। पेट्रोल पंप के संचालक अलीगंज निवासी राजेश सिंह के यहां लईक हवा भरने का काम करता है। लईक ने बताया कि रविवार दोपहर कार सवार पहुंचे उन्होंने हवा भरवाई और चलने लगे। जब 40 रुपये की मांग की तो वह गाली-गलौज करने लगे। विरोध पर मारपीट की। इसके बाद कार में सवार होकर चल दिए। उनके पीछे भागा तो कार सवारों ने पकड़ लिया और करीब 100 मीटर तक घसीटते हुए ले गए। इसके बाद फेंककर धमकाते हुए भाग निकले। यह देख अन्य कर्मी दौड़े उन्होंने लईक को उठाया और मालिक को मामले की जानकारी दी।

पुलिस ने लिया संज्ञान

पीड़ित ने थाने में सूचना दी तो पुलिस ने टरका दिया। कार सवारों की दबंगई सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। देर रात फुटेज इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई तो अधिकारियों ने मामले को संज्ञान लिया। पुलिस कमिश्नर ने तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस ने गाड़ी के नंबर के आधार पर हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि हमलावरों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Related Articles