किसान ने बचपन में देखा था Mercedes-Benz खरीदने का सपना, 88 की उम्र में ऐसे हुआ पूरा

नई दिल्ली: अपने सपनों को पूरा करने की ख्वाहिश तो हर व्यक्ति में होती है। लेकिन उस सपने को हकीकत में बदलने वाले बहुत कम होते हैं। वहीं अगर इसे पूरा करने में 80 साल का इंतजार करना पड़े, तो शायद आप सपने को सपना ही समझकर भूल जाएंगे। लेकिन भारत के एक एच. देवराजन अपने ड्रीम कार मर्सडीज-बेंज बी-क्‍लास को 80 साल के इंतेजार बाद खरीद सभी को हैरान कर दिया है।

80 साल बाद पूरा हुआ मर्सडीज कार का सपना

दरअअसल, तमिलनाडु के एच। देवराजन पेशे से एक किसान हैं। उन्होंने 8 वर्ष की उम्र में ही लग्जरी ब्रैंड मर्सडीज-बेंज की कार खरीदने का सपना देखा था। जिसे उन्होंने 88 वर्ष की आयु में मर्सडीज-बेंज बी-क्‍लास खरीदकर पूरा किया है। लग्‍जरी कार ब्रांड के डीलरशि‍प नेटवर्क मर्सडीज-बेंज ट्रांस कार इंडि‍या ने एच। देवराजन के बारे में वीडि‍यो यूट्यूब पर जारी किया है। देवराजन ने कहा कि‍ जब वह 8 साल के थे तब उन्‍होंने पहली बार इस ब्रांड को देखा था और तभी से वह इससे प्‍यार करने लगे।

ब्रांड का नाम नहीं था मालूम, लोगो से था प्यार

देवराजन ने कहा कि‍ मैं 8 साल की उम्र में जब साइकिल से चलता था,  तब मैंने पहली बार मर्सडीज-बेंज कार देखी। मैं ब्रांड का नाम नहीं जानता चाहता था, लेकि‍न मुझे उसके logo से प्यार हो गया। अपने 16 भाई-बहनों में अकेले वहीं हैं, जि‍न्‍होंने अपने सपने को पूरा कि‍या। उन्‍होंने कहा कि‍ मेरा सपना पूरा हो गया।

कंपनी ने मर्सडीज के लोगो का केक कटवाकर किया खुश

ट्रांस कार इंडि‍या के स्‍टाफ ने उनके ‘लाइफटाइम अचि‍व्‍मेंट’ को सेलिब्रेट करने के लिए बेहद स्पेशल तरीके से मर्सडीज के लोगो वाला केक बनवाया, जिसे देवराजन ने काटकर कार पाने की खुशी पायी। देवराजन ने कहा कि‍ मैं अपनी पत्‍नी के सपोर्ट का 100 फीसदी कर्जदार हूं। मैं ट्रांस कार इंडि‍या की टीम के सपोर्ट का भी शुक्रगुजार हूं।

मर्सडीज-बेंज बी-क्‍लास की खासियत और कीमत

मर्सडीज-बेंज बी-क्‍लास एमपीवी और हैचबैक के बीच की क्रॉसओवर कार है। यह ज्‍यादातर भारतीय परि‍वारों की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाई गयी है, जोकि ऊंची डि‍जाइन के साथ हाई रूफ वाली कार है। इसमें आसानी से उम्रदराज लोग बैठ सकते हैं। साथ ही, इसमें काफी स्‍पेस भी मि‍लता है। तमि‍लनाडु में बी-क्‍लास की एक्‍स-शोरूम कीमत 32 लाख रुपए से शुरू होती है।

Related Articles