सरकार के नये प्रस्ताव को किसानों ने ठुकराया, अनशन शुरू

संयुक्त किसान मोर्चे के सदस्य किसान नेता बख्शीश सिंह ने सरकार द्वारा प्रस्ताव के बारे में कहा कि यह वही प्रस्ताव है

सोनीपत: किसानों ने सरकार की ओर से बातचीत के लिए भेजे गए प्रस्ताव को ठुकरा दिया और पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार सोमवार को कुंडली बॉर्डर पर पहले दिन 11 किसान अनशन पर बैठे। संयुक्त किसान मोर्चे के सदस्य किसान नेता बख्शीश सिंह ने सरकार द्वारा प्रस्ताव के बारे में कहा कि यह वही प्रस्ताव है, जिस पर अक्टूबर से अब तक बातचीत हुई है। सरकार यदि बातचीत करना चाहती है तो कानून रद्द करने के संबंध में कोई ठोस प्रस्ताव दे।

उन्होंने कहा कि रविवार रात को सरकार की ओर से बातचीत के लिए भेजा गया पांच पेज का प्रस्ताव मिला, लेकिन इसमें सारी पुरानी ही बातें हैं। इसके आधार पर सरकार से किसी प्रकार की बातचीत नहीं की जा सकती है। उन्होंने दोहराया कि अगर सरकार बातचीत के लिए तैयार है, तो किसान भी तैयार हैं, लेकिन पहले बातचीत का एजेंडा साफ हो और यह मांग ध्यान में रखी जाए कि किसानों को तीनों कानून रद्द करने से कम कुछ मंजूर नहीं है।

उधर, पूर्व में घोषित क्रमिक अनशन के तहत सोमवार को 11 किसान नेता 24 घंटे के लिए अनशन पर बैठे। कुंडली बार्डर पर आज जय किसान आंदोलन की ओर से रविंदरपाल कौर गिल, भारतीय किसान यूनियन एकता के अध्यक्ष जगजीत सिंह दलेवाल, भाकियू पंजाब के अध्यक्ष फुरमान सिंह संधू, बूटा सिंह चक्र पंजाब किसान यूनियन समेत 11 किसान क्रमिक अनशन पर बैठे।

यह भी पढ़े:

Related Articles

Back to top button