आज भारत पहुंचेगी रूसी वैक्‍सीन Sputnik-V की पहली खेप, टीकाकरण को मिलेगी रफ़्तार

नई दिल्‍ली: देश में कोरोना के बढ़ते आंकड़े लगातार चिंता का सबब बने हुए है। कोरोना से होती मौतों के बीच एक खुशी भरी खबर आई है, रूसी वैक्सीन स्‍पूतनिक वी (Sputnik-V) की पहली खेंप आज 1 मई को भारत आ रही है। अभी तक देश में लोगो को स्वदेशी वैक्सीन कोविशील्‍ड (Covishield) और कोवैक्सिन (covaxin) की डोज़ दी जा रही थी। स्‍पूतनिक वी (Sputnik-V) के भारत में आने के बाद वैक्सीनेशन में आई सुस्ती को गति मिलेगी। स्पूतनिक-वी वैक्सीन को गमालया नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी ने मिलकर तैयार किया है।

आज भारत पहुंचेगी Sputnik-V

बीते सोमवार को भारत के औषधि महानियंत्रक द्वारा कुछ शर्तों के साथ रूसी वैक्सीन ‘स्पूतनिक-V’ (Sputnik-V) को सीमित आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिलाने के बाद देश में तीसरी वैक्सीन की उपलब्धता का रास्ता साफ हो गया था। जिसके बाद स्पूतनिक-वी वैक्सीन को भारत लाने की सिफारिश की गई थी। रूसी अधिकारी ने इसकी पुष्टि कर दी है कि आज भारत में स्पूतनिक-वी वैक्सीन की पहली खेप पहुंच जाएगी। इससे पहले रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के प्रमुख ने भी कहा था कि स्पूतनिक-वी (Sputnik-V) की पहली खुराक 1 मई को भारत पहुंच जाएगी। साथ उन्होंने उम्‍मीद भी जताई की रूसी वैक्‍सीन भारत में कोरोना की दूसरी लहर को रोकने में असरदार सिद्ध होगी।

क्या होगी इसकी कीमत

स्वदेशी वैक्सीन की तुलना में स्पूतनिक-वी (Sputnik-V) ज्यादा असरदार शाबित हो सकती है, पर रूस से इम्पोर्ट करने की स्थिति में यह काफी महँगी पड़ेगी। फिलहाल अन्य देशो में इसकी एक डोज की कीमत लगभग 700 रुपये है। अब भारत में इसकी कीमत क्या होगी इसकी कोई जानकारी नहीं मिली है। स्पूतनिक-वी (Sputnik-V) की कीमत को कम करने के लिए इसके देश में ही उत्पादन की बात चल रही है। डॉ रेड्डी लैबोरेटरीज से इसकी 10 करोड़ डोज बनाने की डील हुई है।

स्वदेशी वैक्सीन और Sputnik-V में अंतर

बता दें कि आज से 18 साल से ऊपर के हर शख्‍स को कोरोना वैक्‍सीन लगाए जाने का अभियान 1 मई से शुरू किया गया है। ऐसे में रूसी कोरोना वैक्‍सीन स्‍पूतनिक वी (Sputnik-V) भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान में तेजी लाएगा। इन तीनो ही वैक्सीन की 2 डोज लगाई जाती है। इसके अलावा पहली और दूसरी डोज के बीच कुछ सप्ताह का समय दिया जाता है, ये समय तीनो वैक्सीन्स के लिए अलग है। रूसी टीके की बात करें तो इसकी एफिसिएंसी लगभग 91% है।

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड में एंट्री से पहले पॉपुलर मॉडल रही Anushka Sharma, कब पहली बार मिले  Virushka, Birthday पर जानें कुछ खास

 

Related Articles