गाजीपुर में मिला पहला कोरोना वायरस का मरीज, तब्लीगी जमात में शामिल हुआ था

0
उत्तर प्रदेश: निजामुद्दीन स्थित मरकज के तब्लीगी जमात से गाजीपुर लौटा एक युवक कोरोना वायरस से पॉजीटिव मिला है। वह 15 मार्च को तब्लीगी जमात से लौटा था। गाजीपुर जिले में ये कोरोना वायरस का पहला केस है।इससे पहले वाराणसी में दो कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं, तो वहीं जौनपुर में भी एक कोरोना वायरस का मरीज मिला है। वह गाजीपुर के एक अस्पताल के आईशोलेशन वार्ड में भर्ती है, जहां उसका इलाज चल रहा है।
आईएमएस बीएचयू के माइक्रोबायोलॉजी लैब में बुधवार की सुबह उसका सैंपल सीएमओ गाजीपुर की ओर से जांच के लिए भेजा गया था, वहां से आई उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इसके बाद आईएमएस बीएचयू की ओर से गाजीपुर के जिला प्रशासन को इसकी सूचना दी जा चुकी है। गाजीपुर का यह पहला मामला है।उत्तर प्रदेश में गुरुवार सुबह एक नया मामला सामने आया। बुधवार को बस्ती जिले के मरीज की मौत के बाद आज सुबह एक अन्य व्यक्ति को कोरोना संक्रमित पाया गया। वहीं शाम को गाजीपुर जिले में एक और मरीज मिलने के साथ प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 119 हो गई है। वहीं प्रशासन अभी भी कई इलाकों में छिपकर रह रहे विदेशियों को खोजने में जुटा हुआ है।
आज कोरोना से हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, गुजरात में एक-एक और मध्यप्रदेश में दो की मौत हुई है। वहीं, इंदौर में 12, राजस्थान में 11, महाराष्ट्र में तीन और मणिपुर में एक नए मामले सामने आए हैं। कोरोना से देश में सबसे प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 338 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक पिछले 12 घंटे में 131 नए मामले आए हैं। इसी के साथ देशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या 1966 हो गई है। इनमें से 1764 लोगों का इलाज चल रहा है। 151 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 50 लोगों की मौत हो चुकी है।
loading...
शेयर करें