नहर में नहाने उतरे थे पांच दोस्त, सिर्फ दो ही आ सके बाहर!

0

बठिंडा: जल जीवन देता है, लेकिन अगर कोई लापरवाही की तो यह जान भी ले सकता है। ऐसा ही मामला पंजाब के बठिंडा से सामने आया। यहां पांच दोस्त एक नहर में नहाने को उतरे थे, लेकिन दो ही बाहर आ सके। तीन युवकों की नहर में डूबने से मौत हो गई। हादसे की सूचना पाकर मौके पर पुलिस और समाजसेवी संस्था नौजवान वेलफेयर सोसायटी के सदस्य पहुंचे। लोगों की सहायता से तीनों मृतकों के शवों को नहर से बाहर निकाला गया। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

तीन युवक नहर में डूबे

जानकारी के मुताबिक, बठिंडा के गांव बीबी वाला के निवासी सुखदेव सिंह, दीपू, बुधराम, अजय कुमार, रवि कुमार बठिंडा के मुलतानिया रोड पर स्थित एक कार मैकेनिक की दुकान पर काम करते थे। पांचों युवक जल्दी दुकान बंद कर नहाने के लिए गांव बीबी वाला के पास नहर पर आ गए। यहां इन लोगों ने नहर की झालों के पास से छलांग लगा दी। झालों के पास नहर में पानी का बहाव तेज था, जिससे सुखदेव सिंह, दीपू, बुधराम पानी में डूब गए। जबकि उनके दो साथी अजय व रवि कुमार जैसे तैसे तैरकर नहर से बाहर आ गए।

युवकों की चीख सुनकर पहुंची भीड़

नहर में तीनों दोस्तों को डूबता हुआ देखकर अजय और रवि ने चीख पुकार शुरू कर दी और मदद की गुहार लगाई। शोर सुनकर आस-पास के लोगों ने तुरंत बचाव कार्य शुरू करते हुए समाजसेवी संस्था नौजवान वेलफेयर सोसायटी व पुलिस को सूचना दी।

एक घंटे की मशक्कत युवकों के मिले शव

सूचना पाकर मौके पर पहुंची समाजसेवी संस्था और पुलिस ने लोगों की सहायता से नहर में डूबे तीनों युवकों की तलाश शुरू कर दी। एक घंटे की मशक्कत के बाद तीनों युवकों के शवों को नहर से निकाला गया।

शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया

थाना कैंट प्रभारी दारोगा नरिंदर कुमार शर्मा के मुताबिक, तीनों मृतक युवकों की आयु करीब 19-20 साल के करीब थी। नहर के तेज बहाव के चलते वे पानी में डूब गये। पुलिस ने तीनों शवों को नहर से ढूंढ लिया है और पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल बठिंडा भेजा गया है। साथ ही मृतक के परिजनों को भी सूचित कर दिया गया है।

loading...
शेयर करें