शादी के जाल में युवती को बनाया शिकार, आवाज उठाने पर सत्ताधारी परिवार ने दी धमकी

वाराणसी: यूपी में बेटियों के साथ शादी का झांसा देकर उनके साथ दुष्कर्म करके मामले के सामने कम नही आ रहे है। इस बार तो जो मामला सामने आया है उसमें बीजेपी नेता के बेटे होने का दावा किया गया है। वाराणसी के बड़ागांव की बेटी ने बताया कि इस रूढ़िवादी समाज में शारीरिक शोषण के बाद मानसिक आर्थिक सामाजिक रूप से इसलिए प्रताड़ित की जा रही है। उसकी जाति-लड़के की जाति से अलग है।

जानकारी के मुताबिक, शहर के बडा़गांव इलाके की रहने वाली मधु जयसवाल ने बताया कि उसके घर से थोड़ी दूरी पर बेलवा पिंडरा बाबतपुर के रहने वाला अश्वनी सिंह उर्फ प्रिंस ने 11 साल पहले पसंद करने की बात की और सीधा शादी करके पत्नी बनने का प्रस्ताव रखा। उस समय नाबालिग थी तब लड़की द्वारा मना करने के बाद भी जोर दबाव बनाकर वो कोशिश में कामयाब हो गया।

प्रिंस ने शादी का वादा करते हुए 11 सालों में 100 से अधिक बार विरोध करने के बावजूद शारीरिक शोषण किया गया। पीड़िता मधु के मुताबिक शादी के झांसे में लेकर कथित प्रेमी द्वारा उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए और कई बार प्रेग्नेंट होने पर जबरन दवा खिलाकर प्रेगनेंसी को हटवा दिया गया। कथित प्रेमी जब शादी करने की बात करने से मुकर गया तो जान से मारने की धमकी गालियां प्राइवेट फोटो को वायरल करने की धमकी देते हुए पीड़िता को प्रताड़ित किया जाने लगा। पीड़िता ने बताया कि कथित प्रेमी का अपराधिक इतिहास है उसके ऊपर गैंगस्टर तक की कार्रवाई की गई। यही नहीं उसका पूरा परिवार अपराधी प्रवृत्ति का है।

नहीं हो रही सुनवाई

पीड़िता ने बताया है कि, इस मामले की शिकायत जब बड़ागांव पुलिस से की तो मेरी शिकायत के आधार पर मुकदमा न लिखते हुए कम धाराओं में मुकदमा कर उसे दिखावा करते हुए 2 अगस्त को जेल भेज दिया गया है। उधर, पुलिस ने बताया कि थाना फूलपुर में पंजीकृत मु0अ0स0 265/19 धारा 308 में कोर्ट में पेश हो गया था और उसपर कार्रवाई करके जेल भेज दिया। आरोप है कि पीड़िता को इंसाफ नही मिला और उसके शिकायत के आधार पर मुकदमा लिख कर जेल नही भेजा गया।

परिवार से बताया जान का खतरा

उधर, पीड़िता ने मीडिया में बताया है कि, आरोपी प्रिंस के जेल जाने के बाद से उसके पिता सुजीत सिंह के अलावा उसके भाई, मां, चाचा परिवार के सभी सदस्य जाने से मारने की धमकी दे रहे है। देश प्रदेश सत्ता की हनक होने की वजह से बीजेपी नेता होने की हुकूमत थानों पर दिखाते है और पुलिस इस मामले में ढीली कार्रवाई कर रही है। पीड़िता के मुताबिक, इन बिजेपी नेता का आपराधिक इतिहास है और मुझे जान का खतरा है। पीड़िता ने सीएम योगी से सुरक्षा प्रदान हेतु और आरोपी पर कार्रवाई की गुहार लगाई है।

Related Articles