आठ साल की बच्ची से दुष्कर्म स्थानीय गुस्साए लोगों ने दी आरोपी को खौफनाक सजा…

नई दिल्ली: जालंधर में एक आठ साल की मासूम बच्ची से दुष्कर्म करने के आरोपी को स्थानीय लोगों ने इतनी बुरी तरह से पीटा कि उसकी मौत हो गई। जानकारी के अनुसार पीड़ित बच्ची के पिता प्रवासी मजदूर हैं। रविवार दोपहर बच्ची अपने घर में अकेली थी। उसकी मां किसी काम से बाजार गई हुई थी। इसी दौरान उनका एक जानकार बिहार निवासी युवक नशे की हालत में घर में घुस आया। 

बच्ची को अकेला देख उसने उसके साथ दुष्कर्म किया और वहां से फरार हो गया। बच्ची के एक रिश्तेदार के मुताबिक जब बच्ची की मां घर लौटी तो उसने बच्ची को खून से लथपथ पड़ा देखा। काफी पूछने पर डरी हुई बच्ची ने आरोपी का नाम लेकर कहा कि उसने उसके साथ गलत काम किया है। इसके बाद पीड़िता की मां ने आस पड़ोस के लोगों को इस बारे में जानकारी दी। वहीं पुलिस को भी सूचना दी गई। इसके बाद लोग इकट्ठा होकर आरोपी के घर पहुंचे और उसकी पिटाई शुरू कर दी। पीटने के बाद लोगों ने आरोपी को थाना रामा मंडी की पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

नशे में होने के कारण आरोपी बयान नहीं दे सका

एसीपी सेंट्रल हरसिमरत सिंह का कहना है कि आरोपी नशे में था। इस वजह से वह बयान नहीं दे सका। आरोपी को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मामले की जांच की जा रही है। मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी के घरवालों के बयान के बाद ही कोई कार्रवाई की जा सकेगी। फिलहाल बच्ची को सिविल अस्पताल भेजकर उसका मेडिकल करवाया गया है।

लोगों का आरोप, पुलिस की लापरवाही से हुई मौत 
वहीं इलाके के लोगों ने आरोप लगाया कि पुलिस की लापरवाही के कारण आरोपी की मौत हुई है। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि उन्होंने आरोपी को पुलिस को सौंप दिया था। पुलिस ने आरोपी की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जबकि उस समय वह होश में था। पुलिस उसे पैदल चलाकर अपनी गाड़ी तक ले गई और काफी देर से धूप में खड़ी गाड़ी में ही बिठाए रखा।इसके बाद पुलिस जांच करने लगी। आरोपी को उसी समय बेहोशी आने लगी थी, जब वह पुलिस की गाड़ी में बैठा था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार आरोपी की मौत पिटाई के कारण नहीं बल्कि ज्यादा नशे, गर्मी और समय पर इलाज न मिलने के कारण हुई है।

Related Articles