सरकार ने कि Vehicle Scrappage Policy की घोषणा, जानिए क्या है इसके फायदें

देश के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को लोक सभा में Vehicle Scrappage Policy का ऐलान किया।

नई दिल्ली: देश के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को लोक सभा में Vehicle Scrappage Policy का ऐलान किया। जिसका मतलब होता है पुरानी कारों को नष्ट कर देना। इस नई Policy का भारत के लोगों पर क्या असर होगा और ये Policy देश के लिए जरूरी क्यों हैं, इसके बारे में जानिए।

Scrappage Policy से वाहन मालिकों को फायदे भी होंगे। नितिन गडकरी ने लोकसभा में कहा कि इस Policy के तहत नई गाड़ी खरीदने पर कुल कीमत में 4 से 6 प्रतिशत की छूट मिलेगी। इसके अलावा नए निजी वाहन की खरीद पर रोड टैक्स में 25 फीसदी तक और नए Commercial वाहन की खरीद पर 15 फीसदी तक छूट मिल सकेगी। Scrapping Certificate देने पर वाहन निर्माता भी 5% की छूट देंगे और नए वाहन की खरीद पर रजिस्ट्रेशन फीस भी नहीं देनी होगी।

Vehicle scrap policy for over 20 years old commercial vehicles to go for  Cabinet nod in a month, says Nitin Gadkari | Zee Business

सड़क सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा

आपको बता दे कि भारत में 51 लाख हल्के मोटर वाहन हैं जो 20 साल से ज्यादा पुराने हैं और 34 लाख ऐसे हैं जो 15 साल से ज्यादा पुराने हैं। लगभग 17 लाख Medium और Heavy Commercial Vehicle हैं जो 15 साल से ज्यादा पुराने हैं और जरूरी Fitness Certificate के बिना चल रहे हैं। Scrap Policy इसलिए भी जरूरी है क्योंकि पुराने वाहन फिट वाहनों की तुलना में 10 से 12 गुना ज्यादा प्रदूषण फैलाते हैं और सड़क सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं।

Scrap Policy का फायदा

इसका एक और फायदा यह है कि Scrap Material से Automoblile Industry को सस्ता कच्चा माल मिलेगा। और सस्ते कच्चे माल की मदद से वाहन निर्माताओं की उत्पादन लागत कम होगी।

Related Articles