इजरायल के पीएम नेतन्याहू को दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर, हल होगी भारत की ये बड़ी समस्या

0

नई दिल्ली। इजरायल के प्रधानमंत्री बेजामिन नेतन्याहू का कल पीएम मोदी ने एयरपोर्ट पर गले लगाकर स्वागत किया था। आज उन्हें राष्ट्रपित भवन में विशेष सम्मान देते हुए गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस दौरान इजरायली पीएम के साथ उनकी पत्नी सारा भी मौजूद रहीं। इसके बाद वहां मौजूद भारत व इजरायल के महत्वपूर्ण लोगों को पीएम मोदी व पीएम नेतन्याहू द्वारा एक दूसरे से परिचित करवाया गया। गार्ड ऑफ ऑनर के बाद बोलते हुए नेतान्याहू ने कहा कि भारत उनका एक अच्छा दोस्त है। भारत व इजरायल के लोगों के भी आपस में एक दूसरे से अच्छे संबंध हैं। इस दोस्ती के लिए उन्होंने पीएम मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके इजरायल दौरे से ये दोस्ती शुरु हो सकी।

यरुशलम मुद्दे पर भारत ने किया था इजरायल के खिलाफ वोट

पिछले महीने भारत उन 127 देशों में शामिल था, जिन्होंने यरूशलम को इसरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हालिया फैसले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र महासभा में लाए गए प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया था। इस मुद्दे पर बोलते हुए नेतन्याहू ने कहा कि भारत द्वारा इसरायल के खिलाफ मतदान किए जाने से उनके देश को ‘निराशा’ हुई, लेकिन इससे दोनों देशों के संबंधों पर फर्क नहीं पड़ेगा।

इसरायली प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि एक वोट सामान्य प्रवृत्ति को प्रभावित कर सकता है। आप कई अन्य मतदान और इन यात्राओं को देख सकते हैं।’’ ‘‘सबसे पहले तो दोनों देशों, उनके लोगों और नेताओं के बीच का संबंध विशेष है। भारत और इसरायल की साझेदारी स्वर्ग में बनी जोड़ी है, जो धरती पर साकार हुई।’’ नरेंद्र मोदी को ‘महान नेता’ बताते हुए नेतन्याहू ने कहा कि उनके भारतीय समकक्ष ‘अपने लोगों के भविष्य के लिए उत्सुक हैं।’’

कुछ ऐसा रहेगा नेतन्याहू के आज के पूरे दिन का कार्यक्रम –

दोपहर 12 बजे- हैदराबाद हाउस में पीएम मोदी से नेतन्याहू की मुलाकात होगी।

दोपहर 12.30 बजे- डेलीगेशन स्तर की बातचीत करेंगे।

दोपहर 1 बजे- समझौतों पर हस्ताक्षर और मीडिया ब्रीफिंग की जाएगी।

शाम 5.45- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेंगे।

शाम 7 बजे- होटल ताज डिप्लोमेटिक में भारत-इजरायल सीईओ फोरम के साथ मीटिंग होगी।

शाम 7.30 बजे- भारत-इजरायल बिजनेस समिट

भारत की सबसे अहम समस्या पेयजल मुद्दे पर हो सकता है समझौता

वर्तमान समय में भारत की सबसे बड़ी समस्या पानी को लेकर है। पीने के पानी से लेकर खेती करने के लिए पानी की कमी से भारत जूझ रहा है। 2009 में नासा के अनुसार भारत के पंजाब,हरियाणा,राजस्थान समेत कई राज्य गंभीर पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। भारत में ग्रांउड लेवल पर पानी की समस्या का हल इजरायल के पास हो सकता है। भारत में ग्रांउड लेवल का पानी तेजी से कम होता जा रहा है। अगर इसमें सुधार नहीं किया गया तो पीने के पानी से लेकर खेती तक करने में देश को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

इजरायल के पास है इस समस्या का समाधान

करीब 10 साल पहले तक इजरायल भी पानी के संकट से जूझ रहा था। लेकिन पिछले कुछ सालों में उसने अपने यहां की तकनीक के जरिए पानी का संकट दूर कर लिया। इजरायल दुनिया के कुछ ऐसे देशों में शामिल है जो कि समुद्री पानी को पीने के पानी योग्य बनाता हैं। पीएम मोदी ने अपने इजरायली दौरे पर ऐसी ही एक गाड़ी से फिल्टर पानी को पिया भी था। उम्मीद जताई जा रही है कि इजरायली पीएम अपने दौरे पर पीएम मोदी को वह जीप गिफ्ट भी दे सकते हैं।

रिपोर्ट की मानें, तो भारत और इजरायल की कुछ एजेंसियां इस बाबत काम कर रही हैं कि किस तरह भारत के किसानों को मदद की जाए। इसके तहत जिस विषय पर काम हो रहा है उसमें करीब 65 फीसदी पानी की बचत के साथ दस गुना फसल पैदा करना सबसे अहम है। इस प्रोजेक्ट के तहत अभी इस्तेमाल किए जाने वाले पानी का 90 फीसदी ग्राउंडवाटर बचाया जा सकता है।

इसके अलावा सोलर पावर के उपयोग से किस तरह पीने के पानी की मात्रा बढ़ाई जाए, इस क्षेत्र में भी इजरायल ने काफी काम किया है। भारत भी सौर ऊर्जा के क्षेत्र में काफी काम कर रहा है, इस लिहाज से इजरायल भारत की मदद कर सकता है। उम्मीद जताई जा रही है कि इजरायली पीएम का ये दौरा भारत में पेयजल की समस्या को खत्म करने में अहम भूमिका निभाएगा।

loading...
शेयर करें