इंदौर में मृत पाए गए पक्षियों में ‘H5N8’ वायरस मिलने से मचा हड़कंप

इंदौर : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) शहर में एक निजी कॉलेज परिसर में मृत पाए गए सौ से ज्यादा पक्षियों (कौआ) में से दो की जांच में ‘एच-5 एन-8’ (H5N8) वायरस पाए जाने के बाद पशु चिकित्सा विभाग (Veterinary department), लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग (Public Health and Family Welfare Department) और अन्य संबंधित विभाग सक्रिय हो गए हैं।

एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) के अतिरिक्त संचालक डॉ शैलेश साकल्ले ने इंदौर पहुंचकर मामले की समीक्षा की और आवश्यक निर्देश जारी किए हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पूर्णिमा गडरिया ने बताया कि मामला प्रकाश में आने के बाद हमने लोक स्वास्थ्य के मद्देनजर सात टीमें बनाकर सर्वे कार्य प्रारंभ कर दिया। यह टीमें प्रभावित कॉलेज परिसर के आसपास के इलाके आजाद नगर, पलडा, चौहान नगर, नवलखा, स्नेहलतागंज, रेसीडेंसी और मूसाखेड़ी के निवासियों की जांच करेगी। इन टीमों को यहां रह रहे नागरिकों में सर्दी, खांसी और अन्य लक्षणों के बारे में जानकारी जुटाने और लक्षण वाले नागरिकों को ऐतिहातन चिकित्सकीय निगरानी में लिए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

इसी तरह का संक्रमण राजस्थान के झालावाड़ और जोधपुर के पक्षियों में भी पाया गया था

स्थानीय कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय (चिड़ियाघर) के प्रभारी डॉ उत्तम यादव ने बताया कि मृत पाए गए लगभग 125 से ज्यादा कौओं को निर्धारित प्रक्रिया के तहत दफन कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि मृत कौओं से संक्रमण नहीं फैले, इसलिए इन्हें दफन करने के साथ आवश्यक ऐहतियाती कदम उठाए गए हैं। डॉ यादव ने बताया कि इससे पहले इसी तरह का संक्रमण राजस्थान के झालावाड़ और जोधपुर के पक्षियों में सामने आया था।

संक्रमण पक्षियों से पक्षियों में फैलने की जानकारी सामने आने के बाद प्रभावित क्षेत्र से महज ढाई किलोमीटर की दूरी पर स्थित चिड़ियाघर में बाहर के पक्षियों की आवाजाही को रोकने का प्रयास किया जा रह है। साथ ही चिड़ियाघर में रह रहे पांच सौ से ज्यादा पक्षियों के पिंजरों के आसपास सेनिटाइजेशन कराया गया है।

इसे भी पढ़े: सत्ता में हुई वापसी तो अयोध्या वासियों को देंगे बड़ा तोहफा: अखिलेश (Akhilesh Yadav)

कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ अमित मालाकार ने बताया कि ‘एन5 एच 8’ वायरस (H5N8 Virus) का घातक असर अबतक केवल ‘वाइल्ड वर्ड’ पर ही देखा गया है। उन्होंने कहा कि फिर भी हम नागरिकों के स्वास्थ्य के हित में सभी आवश्यक कदम उठा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button