स्वास्थ्य विभाग ने जारी किये मासूमों के लिए टीकाकरण कार्ड

इलाहाबाद। जन्म से लेकर बड़े होने तक मासूमों को लगने वालों टीकों के लिए तनाव लेने की जरूरत समाप्त हो गई। स्वास्थ्य विभाग अब इसके लिए टीकाकरण कार्ड जारी किया है। उसमें विस्तृत रुप से लगने वाले और लग चुके टीकों की विवरण दर्ज रहेगा।
tika card

जापानी इंसेफेलाइटिस ब खसरे की दवाओं का भी ब्योरा

कार्ड में विशेष तौर से जापानी इंसेफलाइटिस  और खसरे की दी जाने वाली दवाओं का विवरण दिया है। इस कार्ड को देखकर सामान्य पुरुष या महिला यह जान जाएंगे कि उनके बच्चे को कौन सा टीका लगा है और कौन सा नहीं। स्वास्थ्य विभाग ने जेई और खसरे के लगाए जाने वाले टीके के लिए समय के साथ कॉलम निर्धारित कर दिया है।
हिन्दी में  कार्ड जारी
स्वास्थ्य विभाग की ओर से पहले जो कार्ड जच्चा और बच्चा जारी किया जाता था। उसमें नौ माह और 16 से 24 माह में जेई का लगने वाला और खसरे का लगने वाले टीके के कॉलम विवरण नहीं था। जेई का टीका भी टीकाकरण अभियान में शामिल नहीं था। लेकिन, जैसे ही इसे अभियान में शामिल किया गया उसके बाद बनाए गए कार्ड में दोनों टीकों का विवरण इसमें दर्ज कर दिया है। सामान्य लोग भी जो जरा भी हिंदी भाषा को पढ़ और समझ लेते हैं, वे कार्ड को देखकर समझ जाएंगे।

माताओं और बच्चों के लिए कार्ड

बेली अस्पताल में डी-टाइप हेल्थ पोस्ट की डॉ. रिचा ओझा और डॉ. आर्शी ने कहा टीकाकरण के लिए आने वाली माताओं को उनके बच्चे के लिए यह कार्ड जारी किया जा रहा है।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी  डॉ. आशुतोष ने बताया कि  टीकाकरण कार्ड गर्भावस्था के दौरान लगने वाले टीके के समय ही जारी कर दिया जाता है। वहीं कार्ड बच्चों को लगने वाले टीके के लिए भी काम करेगा। एक ही कार्ड में मां और बच्चों दोनों को लगने वाले टीके का विवरण लिखा रहता है। गर्भवती महिलाओं को और उनके बच्चे को जब-जब टीका लगाया जाएगा इसका पूरा विवरण है। कार्ड में बच्चों को और गर्भवती महिलाओं को होने वाली बीमारियों, जांचों का विवरण दिया गया है। इस देखने के बाद इस बात की भी जानकारी मिल जाएगी कि गर्भवती महिलाओं को जांच होनी है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button