पत्नी की बात न सुनने के लिए पति ने 62 साल तक किया गुंगे-बहरे होने का नाटक

0
न्यूयॉर्क। संयुक्त राज्य अमेरिका में 62 साल की शादी में एक पत्नी ने पाया कि उसका पति गूंगा और बहरा नहीं है। तलाक के कागजात के अनुसार, 84 वर्षीय बैरी डॉसन ने अपनी 80 वर्षीय पत्नी डोरोथी के सामने कभी भी एक भी शब्द नहीं बोला, दशकों तक वे साथ रहते थे। यह मामला कनेक्टिकट में वाटरबरी का है।

पत्नी डेरोथी के अनुसार उन्होंने अपने पति के साथ संवाद करने में सक्षम होने के लिए सांकेतिक भाषा सीखी लेकिन वह भी उनके काम नहीं आई। वह बताती है कि मुझे सांकेतिक भाषा सीखने में पूरे दो साल लगे। डेरोशी ने बताया पति के गूंगे-बहरे होने का खुलासा तब हुआ जब मैंने अपने पति का यूटयूब पर एक वीडियो देखा जिसमें वह एक बार में गाना गा रहे थे। उन्होंने बताया, यह उसी रात का वीडियो था जब वह घर पर यह बता कर गया था कि वह एक चैरिटी की मीटिंग में जा रहा है।

बैरी डॉसन के वकील राबर्ट सैनचिज का कहना है कि वह मानते है कि उनके क्लाइंट ने बहरे होने का नाटक किया लेकिन उन्होंने अपनी पत्नी की परेशान करनी वाली बातों से बचने के लिए ऐसा किया। उन्होंने कहा कि बैरी डॉसन का मकसद अपनी पत्नी को धोखा देना नहीं था और शायद यही वजह थी कि उनकी शादी 62 साल तक चल पाई। वकील ने कहा कि मेरा क्लाइंट बेहद शात स्वभाव का है।

जबकि दूसरी ओर उसकी पत्नी बहुत ज्यादा बातचीत करने वाली महिला है। अगर वह बेहरा होने का नाटक नहीं करता तो उनकी शादी 60 साल पहले ही टूट चुकी होती। दोनो पक्ष गत दिवस अदालत में पेश हुए जिसमें पत्नी ने अपने पति से मुआवजे की मांग की है।

loading...
शेयर करें