भारतीय टीम को सिर्फ ये गलती पड़ी बहुत महंगी, और छिन गया U19 वर्ल्ड कप का ताज

नई दिल्ली: ICC U19 World Cup 2020: भारत की युवा टीम बांग्लादेश के खिलाफ आइसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप 2020 का खिताब जीतने की पूरी हकदार थी। सबकुछ भारतीय टीम के पक्ष में नहीं था, लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने ऐसा कर दिखाया। हालांकि, दूसरी पारी में भारतीय टीम के सभी गेंदबाजों ने मिलकर एक सबसे बड़ी गलती की और भारत से विश्व विजेता का ताज छिन गया।

साल 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम 2020 के अंडर 19 वर्ल्ड कप के फाइनल में डिफेंडिंग चैंपियन के नाते उतरी। बांग्लादेश ने टॉस जीता और भारत को बल्लेबाजी का न्योता दिया। भारत को अच्छी शुरुआत नहीं मिली, लेकिन यशस्वी जायसवाल और तिलक वर्मा ने मिलकर भारत को 100 रन के पार भेज दिया। इसके बाद कोई भी बल्लेबाज अच्छी पारी नहीं खेल सका।

भारतीय टीम यशस्वी जायसवाल के 88 रन की पारी के बावजूद 177 रन पर ऑल आउट हो गई। इसके बाद सभी को भारतीय गेंदबाजों से उम्मीदें थीं, लेकिन भारत के तेज गेंदबाज पहले 8 ओवर में कोई विकेट नहीं निकाल सकी। हालांकि, इसके बाद रवि बिश्नोई ने भारत को पहली, दूसरी, तीसरी और चौथी सफलता दिलाई। इसी के साथ भारतीय टीम ने मैच में वापसी कर ली, लेकिन अभी तक दूसरा कोई गेंदबाज विकेट नहीं निकाल पाया था।

ये थी सबसे बड़ी गलती

आपको जानकर हैरानी होगी कि बांग्लादेश की टीम का पहला रन बल्ले से नहीं, बल्कि वाइड के रूप में आया। इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने अतिरिक्त रनों(Extras) की झड़ी लगा दी। भारतीय गेंदबाजों ने कुल 33 रन एक्स्ट्रा के रूप में दिए। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब आपके खाते में सिर्फ 177 रन हों, बारिश सिर पर मंडरा रही हो और आप अतिरिक्त के रूप में 33 रन लुटा देते हैं तो आपके पास क्या बचेगा।

भारतीय टीम को यही 33 रन बहुत भारी पड़ गए। इसके अलावा स्ट्राइक गेंदबाज कार्तिक त्यागी और आकाश सिंह एक भी विकेट नहीं निकाल सके, जिसका खामियाजा भारतीय टीम को भुगतना पड़ा। इसके अलावा इंजरी के बावजूद खेल रहे अथर्व अंकोलेकर भी विकेटलेस रहे। भारत की ओर से कार्तिक त्यागी ने 5, सुशांत मिश्रा ने 4, आकाश सिंह ने 5 और अथर्व ने 5 वाइड फेंकी, जिसमें किसी में एक रन गया तो किसी में 5 रन गए।

Related Articles