नदी में नहाने से बुझ गया घर का चिराग, गांव में मचा कोहराम, बच्चों का रखें ध्यान

गोंडा। यूपी के गोंडा जिले पचरुखी मनोहजोत गांव में उस वक्त कोहराम मच गया जब पता चला कि राशन लेने निकले तीन बच्चें नदी में डूब गए। बुधवार को ये तीनो घर से राशन लेने निकले थे तभी गांव के पास विसुही नदी में नहाने लगे और उस दौरान बाढ़ इतनी तेज आया कि गहरे पानी मे डूब गए। घटना की खबर लगते ही पुलिस, प्रशासनिक अधिकारी व एनडीआरएफ की फ्लड टीम के गोताखोरों ने नदी में सर्च अभियान चलाया। देरशाम तक तीनों बच्चों को एनडीआरएफ की टीम खोजती रही लेकिन उनका पता नहीं चला।

पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, थाना खरगूपुर क्षेत्र के पचरुखी मनोहरजोत गांव के रहने वाले विक्रांत वर्मा (12) पुत्र तिलकराम वर्मा, महेश उर्फ छोटे यादव (12) पुत्र पवन कुमार यादव व आनंद कुमार मिश्र(15) पुत्र सुरेश मिश्र एक साथ बुधवार की सुबह अपने घर से राशन की दुकान पर खाद्यान्न लेने के लिए निकले थे। तभी ये तीनो भोलाजोत गांव के पास विसुही नदी के किनारे साइकिल खड़ी करके और कपड़े, चप्पल रख कर नदी में नहाने लगे। इस दौरान नदी में अचानक से पानी का तेज बहाव आया और तीनों को ले गया। जब इसकी खबर घर वालो को लगी तो कोहराम मच गया और सभी नदी की ओर भागे।

मौके पर पुलिस व अधिकारी पहुंचे

घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस समेत पुलिस बल, एसडीएम सदर सूरज पटेल, बीडीओ कुलदीप सिंह, सीओ सदर लक्ष्मीकांत गौतम, एडीओ पंचायत अजीत गुप्ता मौके पर पहुंचे। एनडीआरएफ की फ्लड टीम बुलाई गई और गोताखोरों ने नदी में खोजबीन चालू की। मगर देर शाम तक तीनों बच्चों का पता नहीं चल सका।

गुरुवार को मिला शव

सीओ सदर ने बताया कि बच्चों की तलाश में गोताखोरों को लगाया गया है। पचरुखी मनोहरजोत के रहने वाले सुरेश मिश्र का बेटा आनंद कुमार मिश्र 12 दो भाइयों में से बड़ा था। उसके एक छोटा भाई अन्नू 10 है। शिक्षामित्र तिलकराम वर्मा का बेटा विक्रांत वर्मा 12 दो भाइयों में छोटा था। अचानक एक ही गांव के तीन किशोरों की नदी में डूब जाने के बाद शिक्षामित्र तिलकराम वर्मा, पवन यादव तथा सुरेश मिश्र के घरों में कोहराम मचा है। बुधवार को दिन भर चले रेस्क्यू के बाद भी सफलता नहीं मिली थी। गुरुवार की सुबह तीनों बच्चों के शव उतराते मिले।

 

 

 

Related Articles