सेंसर बोर्ड की बेरुखी से आहत हुए ‘द कनवर्जन’ फ़िल्म के मेकर्स

मुम्बई: निर्देशक विनोद तिवारी की फ़िल्म ‘द कनवर्जन’ जल्द ही सिनेमाघरों में दिखायी जाने वाली थी। फ़िल्म का रिलीज़ डेट 8 अक्टूबर को तय किया गया है किंतु सेंसर बोर्ड की लापरवाही की वजह से यह फ़िल्म अब तक सेंसर बोर्ड से पारित नहीं हो पाई है। फ़िल्म मेकर्स ने सेंसर बोर्ड में दी जाने वाली सभी राशि का समय पर भुगतान कर दिया है।

16 अगस्त से फ़िल्म सेंसर बोर्ड के पास अटकी पड़ी है। 3 बार सेंसर फ़िल्म का निरीक्षण प्रक्रिया पूर्ण कर चुका है। फ़िल्म में फिल्माए दृश्यों या संवाद पर अभी तक कोई त्रुटि नहीं बताई गई, इसके उपरांत भी सेंसर बोर्ड फ़िल्म के बारे में कोई सही विवरण या जानकारी फ़िल्म मेकर्स को नहीं दे रहा है, ना ही आगे की प्रक्रिया में भेज कर फ़िल्म को पारित कर रहा है।

अब 15 अक्टूबर को फ़िल्म को पूरे देश में प्रदर्शित करने की पूर्ण तैयारी मेकर्स द्वारा कर ली गयी है पूरे भारत में सिमेमा हाल पर प्रचार के लिए पोस्टर जा चुके है| सिनेमा हाल तय हो चुके है, लेकिन ऐसे समय मे सेंसर बोर्ड की खामोशी फ़िल्म को भारी नुकसान की ओर ले जा सकती है। फ़िल्म ‘द कनवर्जन’ के निर्माता का कहना है कि यदि फ़िल्म 15 अक्टूबर को रिलीज़ नहीं हो पाती है तो इससे फ़िल्म मेकर को भारी नुकसान का सामना करना पड़ेगा।

गत दिनों में भी निर्माता अपनी फ़िल्म की रिलीज़ डेट आगे बढ़ा चुके है, ‘द कनवर्जन’ फ़िल्म को लेकर सेंसर बोर्ड की मनमानी और बेरुखी से फ़िल्म के मेकर्स आहत हैं। आपको बता दें कि ‘द कनवर्जन’ फ़िल्म में विंध्या तिवारी, रवि भाटिया, प्रतीक शुक्ला, विभा छिब्बर, अमित बहल, मनोज जोशी, सुनीता रजवर, संदीप यादव, सुशील सिंह आदि कलाकारों ने काम किया है।

यह भी पढ़ें: Jammu and Kashmir: बांदीपोरा मुठभेड़ में आतंकी इम्तियाज अहमद डार ढेर

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles