अलवर में फिर कातिल बनी भीड़, गोतस्करी के शक में शख्स की पीट-पीटकर हत्या

0

अलवर: राजस्थान के अलवर से एक बार फिर से मॉब लिंचिंग (भीड़ की हिंसा) का सनसनीखेज़ मामला सामने आया है। यहां रामगढ़ इलाके में कुछ लोगों ने एक शख्स को गो तस्करी के शक में पीट पीटकर मार डाला। बताया जा रहा है कि 20 जुलाई की रात को अकबर नाम का शख्स दो गाय ले जा रहा था। तभी कुछ लोगों ने गो तस्करी के शक में उसे पीटना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मामले की सूचना पाकर पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है और केस की जांच कर रही है। आरोपियों के खिलाफ सबूत जुटाने के लिए पुलिस के खोजी कुत्तों का भी सहारा लिया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, मामला अलवर के रामगढ़ के लल्लावंडी गांव का है। यहां शुक्रवार देर रात अकबर दो गायों को लेकर जा रहा था। तभी किसी स्थानीय लोगों को इसकी खबर लगी और गो तस्कर के शक में भीड़ मौके पर पहुंच गई और और उसे पीटना शुरू कर दिया। इस घटना में उसकी मौत हो गई है। पुलिस ने इस केस में अबतक किसी को गिरफ्तार नहीं किया है। रिपोर्ट के मुताबिक मृतक हरियाणा के कोलगांव का रहने वाला था।

पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

अलवर के एएसपी अनिल बेनिवाल ने कहा है कि अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वह गो तस्कर था या नहीं। वहीं जयपुर रेंज के आईजी ने बताया, ‘गायों को गोशाला में भेज दिया गया है। दो संदिंग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई और मामले में संलिप्तता पाते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। दूसरे आरोपियों का पता लगाने के लिए जांच जारी है। शव का पोस्टमॉर्टम हो चुका है।’

चार साल में लिंच राज- असदुद्दीन ओवैसी

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस घटना की आलोचना करते हुए कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किये। उन्होंने ट्वीट कर अपना गुस्सा निकाला। उन्होंने लिखा, “धारा-21 के तहत भारत में गायों को जीने का मौलिक अधिकार है, और एक मुस्लिम की हत्या की जा सकती है, क्योंकि उन्हें जीने का मौलिक अधिकार नहीं है। मोदी शासन के चार साल- लिंच राज।”

loading...
शेयर करें