पहली बार तैरते होटल में आयोजित हुई बैठक, लिए गए कई अहम फैसला…

टिहरी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के साथ पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज भी आज टिहरी पहुंच चुके हैं। कहा जा रहा है ऐसा पहली बार हुआ जब उत्तराखंड मंत्रीमंडल की बैठक पानी में तैरते होटल में आयोजित की गई। इस बैठक में राज्य मंत्रिमंडल के लिए पारम्पारिक भोजन भी परोसे गए। जानकारी के मुताबिक आहूत मंत्रिमंडल की बैठक टिहरी झील के मरीना होटल में हुई।

खबरों की माने तो इस बार की इस कैबिनेट बैठक ने इतिहास बदल दिया। ऐसा कभी नहीं कि कोई भी मीटिंग पानी में तैरते होटल पर हुई। इस मीटिंग के दौरान कई अहम फैसले लिए गए। साथ ही यह भी निर्णय लिया गया कि सरकार पर्यटक सेक्टर को बढ़ावा देना चाहती है। बढ़ावे के साथ कई रोजगार के नए नए जरिए बनेंगे। लिहाजा रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा।

प्रदेश मंत्रिमंडल ने 13 जनपदों में 13 डेस्टिनेशन बनाए जाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है। प्रस्ताव के तहत 13 नए पर्यटन स्थलों का चयन किया गया है। इन्हें मसूरी और नैनीताल की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। अल्मोड़ा में कटारमल, नैनीताल में मुक्तेश्वर, पौड़ी में सतपुली व खैरासैंण, चमोली में गैरसैंण, भराड़ीसैंण, देहरादून में महाभारत सर्किट के रूप में लाखामंडल,  हरिद्वार में शक्तिपीठ थीम पार्क, उत्तरकाशी में हरकी दून व मोरी

इतना ही नहीं कैबिनेट ने आयुष और वेलनेस सेंटर को मेगा इंडस्ट्री इन्वेस्टमेंट नीति के तहत लाने का भी निर्णय लिया है। इस फैसले से होटल, रिजार्ट, सी प्लेन, रोप-वे, आयुर्वेद, योग समेत कुल 22 गतिविधियों के संचालन में नीति के तहत कई लाभ मिलेंगे।

Related Articles