सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में हुई बुन्देलखण्ड-पूर्वाचंल के विकास हेतु मंत्री परिषद की बैठक

लखनऊः उत्तर प्रदेश वित्त संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में बुन्देलखण्ड-पूर्वाचंल के विकास हेतु गठित मंत्री परिषद की उपसमिति की मंगलवार को योजना भवन में बैठक हुई। बैठक में उपसमिति के सदस्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, ग्राम्य विकास मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह (मोती सिंह) खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह, आर्थिक सलाहकार मुख्यमंत्री डॉ केवी.राजू उपस्थित थे।

सुरेश कुमार खन्ना ने विभिन्न विभागों के प्रमुखों को बुन्देलखण्ड और पूर्वांचल क्षेत्र में चल रही विभिन्न परियोजनाओं को दिसम्बर तक पूरा करने एवं निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के निर्देेश दिये। उन्होने कहा कि बुन्देलखण्ड और पूर्वांचल का सर्वांगीण विकास शासन की शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने ग्राम्य विकास विभाग को निर्देश दिया कि स्वयं सहायता समूह के माध्यम से अधिक से अधिक महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड एवं पूर्वांचल क्षेत्र में कृषकों को लाभान्वित करने के लिए सिचाई की सरयू और अर्जुन नहर एवं अन्य परियोजनाओं को समय से पूरा किया जाए।

मंत्रिमंडल की उप समिति का उद्देश्य विभागीय कार्य योजना तैयार कराने व उसके समयबद्ध क्रियान्वयन एवं इस क्षेत्र में मातृ एवं शिशु से संबंधित विभिन्न स्वस्थ्य संकेतांकों में सुधार, साक्षरता की दर को शतप्रतिशत कराकर शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार युवाओं को कौशल प्रशिक्षण, प्रत्येक व्यक्ति कृषि एवं कृषि उत्पादन से संबंधित प्रति व्यक्ति की आय में सुधार, महिला स्वयं सहायता समूह का गठन एवं माइक्रो फाइनैन्सिग की सुविधा उपलब्ध कराया जाना है।

Related Articles