नाबालिग बहन से दुष्कर्म करने वाले से लेना था बदला, ऐसे पहुंचा तिहाड़ और उठाया कदम

नई दिल्ली:नाबालिग बहन के साथ दुष्कर्म किए जाने का बदला लेने के लिए तिहाड़ में कैदी की हत्या की गई। आरोपी कैदी ने खुलासा किया है कि मेहताब ने उसकी बहन के साथ दुष्कर्म किया था। जिससे आहत होकर उसकी बहन ने खुदकुशी कर ली थी। उसके बाद से ही वह मेहताब से बदला लेना चाहता था।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि  29 जून की सुबह दुष्कर्म के आरोप में तिहाड़ जेल संख्या 8 में निजामुद्दीन निवासी मेहताब की नुकीली हथियार से वार कर हत्या कर दी गई। हत्या उसी जेल में बंद एक कैदी दक्षिणपुरी निवासी जाकिर ने की। जाकिर को मौके से दबोच लिया गया।पूछताछ में जाकिर ने पुलिस को बताया कि वर्ष 2014 में मेहताब ने उसकी नाबालिग बहन को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया था। इस घटना से आहत होकर उसकी बहन से खुदकुशी कर ली थी। उसके बाद से ही जाकिर मेहताब से बदला लेने के फिराक में था।

आरोपी ने खुद जताई दूसरे जेल में जाने की इच्छा
वर्ष 2018 में जाकिर को जैतपुरी थाना पुलिस ने हत्या के एक मामले में गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल भेज दिया। वह तिहाड़ जेल संख्या पांच में बंद था। इस जेल में अन्य कैदियों से अकसर झगड़ा करता था। फिर खुद ही उसने दूसरे जेल में जाने की इच्छा जताई। उसे तिहाड़ जेल संख्या 8 में भेज दिया गया।

वह भूतल पर बने बैरक में था जबकि मेहताब पहली मंजिल पर बने बैरक में रहता था। मेहताब को देखकर उसने जेल में ही उससे बदला लेने की ठान ली। बर्तन को पैना कर उसने नुकीला हथियार बनाया और 29 जून की सुबह प्रार्थना के समय जब कैदी नीचे आ रहे थे तब उसने मेहताब की तलाश कर उसपर हमला कर दिया।

 

Related Articles