एमपीपीईबी की टीम अब परीक्षा के दिन कंट्रोल-रूम से गतिविधियों पर रखेगी नजर

एमपीपीईबी एजेंसी अपनी विशेषज्ञता के सहारे प्रभावी प्रौद्योगिकी, सायबर सुरक्षा और संसाधनों का प्रबंधन सुनिश्चित करेगी। यह देश में अपनी तरह का एकमात्र संगठन है, जो हर साल बड़े पैमाने पर विभिन्न व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिये

भोपाल: मध्यप्रदेश प्रोफेशनल एक्जाम बोर्ड विभिन्न कम्प्यूटर पर आधारित परीक्षाओं के संचालन के लिये निष्पक्ष और पारदर्शी प्रक्रिया अपनाने के लिये राष्ट्रीय ख्याति के एक विश्वसनीय सेवा प्रदाता की सेवाएं लेगा। आधिकारिक जानकारी के अनुसार यह एजेंसी ऑनलाइन परीक्षा कराने में 13 वर्ष के अनुभव के साथ भारत की अग्रणी सेवा प्रदाता है।

एमपीपीईबी एजेंसी अपनी विशेषज्ञता के सहारे प्रभावी प्रौद्योगिकी, सायबर सुरक्षा और संसाधनों का प्रबंधन सुनिश्चित करेगी। यह देश में अपनी तरह का एकमात्र संगठन है, जो हर साल बड़े पैमाने पर विभिन्न व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिये प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन करता है। इसके अलावा पीईबी विभिन्न सरकारी विभागों एवं सार्वजनिक उपक्रमों में भी राज्य-स्तरीय पदों के लिये भर्ती परीक्षाएँ आयोजित करता है।

ये भी पढ़े : हिमाचल प्रदेश के चार जिलों में लागू नाइट कर्फ्यू, बस सेवा रहेगी बंद

एमपीपीईबी की निदेशक शनमुगा प्रिया मिश्रा ने बताया कि जेल प्रहरी परीक्षा, जो 20 नवम्बर से 2 दिसम्बर के बीच आयोजित की जाना थी, उसे अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दिया है। इसकी नई तिथि पृथक से जारी की जायेगी। उन्होंने बताया कि नवीन शेड्यूल की पीईबी वेबसाइट के माध्यम से जानकारी प्राप्त होगी। एमपीपीईबी की टीम अब परीक्षा वाले दिन अपने कंट्रोल-रूम में बैठकर सभी गतिविधियों पर नजर रख सकेगी। कंट्रोल-रूम डेशबोर्ड पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता प्रदान करेगा। तकनीकी प्रगति और डिजिटल बदलाव में सेवा प्रदाता की विशेषता के सहारे अतीत में पेश आई विभिन्न चुनौतियों पर अंकुश लगाना संभव हो सकेगा, जिससे आगामी महीनों में लगातार भर्ती परीक्षाएँ निर्विवाद रूप से आयोजित की जायेंगी।

Related Articles

Back to top button