‘रेप की रानी’ के नाम से फेमस इस एक्ट्रेस की 27 साल की उम्र में हुई थी दर्दनाक मौत!

मुंबई। समाज से जुड़ी हर समस्या को देखकर बॉलीवुड में रियल लाइफ से रील लाइफ फिल्में बनाई जाती हैं। आज का दौर हो या बात करे 1960-70 के दशक की, तब भी घर और समाज में औरतों को सामाजिक उत्पीड़न और सेक्सुअल हरासमेंट जैसी तकलीफों का सामना करना पड़ता था।

नाजीमा

बॉलीवुड में औरतों की इन तकलीफों को पर्दे पर उतारा गया। पर आपको पता हैं कि इस दौर में रेप वाले सीन सबसे ज्यादा किस अभिनेत्री पर फिल्माए गये हैं। नहीं ना! चलिए हम आपको बताते हैं उस अदाकारा का नाम। वो हैं एक्ट्रेस नजीमा जिन पर सबसे ज्यादा रेप सीन फिल्माए जाते थे…आइए आपको बताते हैं इनके बारे में-

बहन या फिर एक्ट्रेस की सहेली का मिलता था रोल- एक्ट्रेस नजीमा फिल्म जगत में ऐसी अदाकारा थी जिनको ज्यादातर बहन या फिर एक्ट्रेस की सहेली का किरदार मिला करता था और जाहिर था कि फिल्म में नजीमा पर रेप सीन फिल्माने के लिए उन्हें यह किरदार दिया जाता था। बता दें कि मासूम और खूबसूरत चेहरे की बदौलत निर्देशक उन्हें हीरो की बहन के किरदार के लिए खूब पसंद करते थे।

‘रेप की रानी’ के नाम से भी हुई थी फेमस- महाराष्ट्र के नासिक में 1948 को पैदा हुई नजीमा का शुरुआत से ही फिल्मों की तरफ बड़ा रुझान था। उन्होंने बतौर बाल कलाकार बेबी चांद, हम पंछी एक डाल के जैसी फिल्मो में दमदार अभिनय से लोगों का दिल जीता। बॉलीवुड में उनके अभिनय को खूब सराहा गया है।बता दें कि 1960 से 70 के दशक में फिल्मो में रेप सीन को प्रमुखता से लिया जाता था। यहां तक कि कई फिल्मों की पूरी कहानी रेप पर ही टिकी होती थी और इस रोल के लिए डायरेक्टर की सबसे पहली च्वॉइस नजीमा ही हुआ करती थीं। बॉलीवुड में रेप के सीन करते-करते उन्हें रेप की रानी भी कहा जाने लगा था।

नाजीमा

फिल्मी करियर- अगर बात करें नजीमा के फिल्मी करियर की उन्होंने फिल्म निशान (1965), राजेंद्र कुमार के साथ फिल्म आरज़ू (1965), दिल्लगी,(1966), तमन्ना(1969), अनजाना(1969) जैसी फिल्मो में सपोर्टिंग रोल किए और फिल्म की कहानी के आधार पर इन्हें ज्यादातर बहन का ही किरदार मिला। 1972 में आई फिल्म ‘बेईमान’ में उन्होंने एक्टर मनोज कुमार के सामने अपने अभिनय का शानदार प्रदर्शन किया। इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्म फेयर अवार्ड से भी नवाजा गया था। नाजीमा की आखिरी फिल्म ‘लव एंड गॉड’ थी जो उनकी मृत्यु के बाद रिलीज हुई थी। बहन के रोल करते-करते नाजीमा को ‘बॉलीवुड की बहन’ भी कहा जाने लगा। 1960-70 के दौर में एक्टर की बहन बनने के कारण इन्हें यह नाम मिला।

कैंसर से हुआ था निधन- नाजीमा ने फिल्म इंडस्ट्री को बहुत कम समय दिया। बड़े दुख की बात है कि उन्होंने साल 1975 में दुनिया को अलविदा कह दिया। कैंसर के चलते उनकी महज 27 साल की उम्र में मौत हो गई।

Related Articles