तालिबान के जिस सर्वोच्च नेता की चल रही थी मौत की खबर, सार्वजनिक रूप से हुए पेश

काबुल: अफगानिस्तान में अभी तक तालिबान के सर्वोच्च नेता हैबतुल्लाह अखुंदज़ादा के निधन की खबरें चल रही थी। वहीं इसका पता लगने के बाद आज रविवार को अखुंदज़ादा ने मीडिया के सामने पेश होकर अपनी पहली सार्वजनिक उपस्थिति की पुष्टि की।

अखुंदज़ादा को लो प्रोफाइल रखने के लिए जाना जाता है और उन्हें पहले कभी सार्वजनिक रूप से नहीं देखा गया है। उन्होंने 2016 में संगठन के सर्वोच्च नेता की भूमिका निभाई। जबकि अधिकारियों के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि अखुंदज़ादा ने अतीत में “अप्रकाशित सार्वजनिक उपस्थिति” की है, यह पहली पुष्टि की गई सार्वजनिक उपस्थिति है, जो उनकी मृत्यु के बारे में हाल की अफवाहों को भी खारिज करती है।

रॉयटर्स के अनुसार, अखुंदज़ादा की एकमात्र तस्वीर जिसे समाचार एजेंसी सत्यापित कर सकती थी, वह मई 2016 से तालिबान के ट्विटर अकाउंट की फीड पर एक अदिनांकित तस्वीर थी। अगस्त में अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में लौटने के बाद, अखुंदजादा की मौत की अफवाहें उड़ी थीं। लेकिन कंधार में हुई उनकी दुर्लभ सार्वजनिक उपस्थिति उन अफवाहों को शांत करने में कुछ दूर जाएगी।

समाचार एजेंसी की रिपोर्ट है कि उस स्थान पर मौजूद संगठन के एक वरिष्ठ नेता ने खुलासा किया कि तालिबान प्रमुख ने 30 अक्टूबर को जामिया दारुल अलूम हकीमिया नामक शहर के एक धार्मिक स्कूल का दौरा किया था।

Related Articles