OMG! यहां लगता है दुनिया के सबसे जहरीले सांपों का सैलाब, काट लें बचना मुश्किल

किसानों को खेती करते हुए तो सबने देखा होगा, पर क्या कभी किसी ने इन्हीं किसानों को जीव-जंतु की खेती करते हुए देखा है। अगर नहीं देखा, तो आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताएंगे जहां फल-सब्जी नहीं बल्कि सांपों की खेती होती है। भारत के पड़ोसी देश चीन के लोग इस खेती के लिए मशहूर हैं।
Related imageचीन के एक गांव जिसिकियाओ में रहने वाले लोग सांपों की खेती के लिए जाने जाते हैं। यहां के किसानों की कमाई का मुख्य स्त्रोत ही सांपों की खेती है। इतना ही नहीं इस गांव की आबादी लगभग 1000 है और यहां का हर व्यक्ति लगभग 30 हजार सांप पालता है। पाले जाने वालों सांपों में कोबरा, अजगर, वाइपर और कई अन्य जहरीले सांप भी शामिल हैं।

जिसिकियाओ गांव के लोगों को सांप से डर भी नहीं लगता, लेकिन सिर्फ फाइव स्टेप स्नेक से यहां के लोग डरते हैं। इस सांप के पीछे दिलचस्प कहानी है। गांव के लोगों का कहना है कि सांप इतना ज़हरीला है कि जिसको भी काट ले, वह पांच कदम चलते ही मर जाता है।

गांव के लोग सांप के मांस और शरीर के अन्य अंगों को बाज़ार में बेचते हैं। सांप के मांस को चीन के लोग बड़े शौक से खाते हैं। साथ ही सांप के शरीर के अंगों का इस्तेमाल दवाइयां बनाने में भी किया जाता है। सांपों का पहला ज़हर निकाल दिया जाता है।

फिर उनके सांपों का सिर काट दिया जाता है। बाद में सांपों को काटकर उनका मांस अलग रख दिया जाता है। सांप के चमड़े को अलग रखकर धूप में सुखाया जाता है। सांप के मांस से दवाई बनाई जाती है और चमड़ों से बैग और अन्य सामान बनाए जाते हैं।

Related Articles