चुनावी समर के सबसे गरीब प्रत्याशी, ना नकदी हैं ना जेवर, पैदल घूमकर मांगते है वोट

लोकसभा चुनाव 2019: देश में एक तरफ जहां इस लोकसभा चुनाव में बाहुबली और करोड़पति प्रत्याशियों की लंबी कतार लगी है. वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी उम्मीदवार इस चुनाव में ताल ठोकने उतरे हैं जिनके खाते में एक भी पैसा नहीं है. जी हां उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में ऐसे ही एक लोकसभा प्रत्याशी इस महासंग्राम में उतरे हैं जिनके खाते में एक रुपया भी नहीं है. इनका नाम है मांगेराम. मांगेराम के पास ना तो नकदी है, और ना जेवर, और ना ही बैंक में एक रुपया. पैदल प्रचार करते हैं. वर्ष 2000 से लगाातर चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन हर चुनाव के साथ ये और गरीब होते जा रहे हैं.

बता दें कि मांगेराम का उम्र 51 वर्ष है, और वो पेशे से एक वकील हैं. मांगेराम ने वर्ष 2000 में अपनी खुद की एक पार्टी बनाई, और इस पार्टी का नाम ‘मजदूर किसान यूनियन पार्टी’ रखा है. मांगेराम के अनुसार उनकी इस पार्टी के साथ करीब 1000 लोग जुड़ चुके हैं जिनमें अधिकतर लोग मजदूर हैं.

बता दें कि नामांकन के दौरान उन्होंने अपने हलफनामे में बताया कि ना तो उनके पास नकदी है, ना बैंक में एक भी रुपया है और ना ही जेवर हैं, यहां तक की उनकी पत्नी जिनका नाम बबीता चौहान है उनके भी पास कुछ नहीं है. हलफनामे के अनुसार उनके पास करीब 5 लाख रुपये कीमत तक की एक 100 वर्गमीटर का प्लॉट है. इसके अलावा 15 लाख रुपये का एक घर है, जिसे उनके ससुराल वालों ने गिफ्ट किया है. इन सब के अलावा इनके पास एक बाइक है जिसकी कीमत 36 हजार रुपये है.

Related Articles