रूस से सीधे अफगानिस्तान पहुंचे पीएम मोदी, संसद का करेंगे उद्घाटन

kabul_650x425_122515075045काबुल। रूस की दो दिवसीय यात्रा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक दिन के दौरे पर अफगानिस्‍तान पहुंचे हैं। इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी अफगानिस्‍तान के संसद भवन का उद्घाटन करेंगे। इस संसद भवन का निर्माण भारत की मदद से ही हुआ है।

अफगानिस्‍तान की इस संसद के निर्माण का काम 2007 में शुरू हुआ था। इस इमारत को भारत की ओर से अफगानिस्तान में लोकतंत्र की प्रतीकात्मक भेंट करार दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। पीएम मोदी ने कहा कि वह काबुल में अपने दोस्तों के बीच पहुंच गए हैं। इस दौरान वे वहां के राष्ट्रपति अशरफ गनी, सीईओ अब्दुल्ला अब्दुल्ला और पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई से मुलाकात करेंगे।

इस भवन के निर्माण पर 4 करोड़ 50 लाख डॉलर का खर्च आना था। लेकिन, बाद में यह बढ़कर 9 करोड़ डॉलर हो गया। इस भवन का डिजाइन मुगल और आधुनिक स्थापत्य कला पर आधारित है। इसका गुंबद एशिया का सबसे बड़ा गुंबद होगा।

भारत सरकार ने युद्ध पीड़ित अफगानिस्तान से दोस्ती और एकजुटता दिखाने के लिए इस भवन को बनाने का काम 2007 में शुरू किया था। 31 दिसंबर तक इसे बनकर तैयार हो जाना है। इसे नवंबर 2011 में ही बनकर तैयार होना था, लेकिन इसे बनाने की अंतिम तिथि तीन बार बढ़ानी पड़ी। ताजा समीक्षा में भारत के शहरी विकास विभाग के सचिव मधुसूदन प्रसाद और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने पाया कि भवन का काम 96 फीसदी पूरा हो चुका है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button