सावधान! घर में मौजूद धूल-मिट्टी से बढ़ रहा है आपका वजन

0

नई दिल्ली। आज के दौर में बच्चों से लेकर हर वर्ग के लोग अपनी हेल्थ को लेकर काफी सीरियस रहते हैं। इसके अलावा वो अपनी डाइट, एक्सरसाइज और जिम करके भी खुद को फिट रखने की कोशिश करते हैं। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि इतना सबकुछ करने के बावजूद कुछ लोगों का वजन कम नहीं होता है उल्टा बढ़ता जाता है। इसकी क्या वजह है आपने कभी सोचा है? आज हम आपको बतायेंगे कि इसके पीछे का क्या कारण है।

वजन

वजन बढ़ने के पीछे की वजह है आपके घर की धूल-मिट्टी

दरअसल, कई बार हेल्थ को लेकर पूरी सावधानी बरतने के बाद भी वजन कम नहीं होता है तो इसके पीछे की वजह आपके घर की धूल-मिट्टी हो सकती है। आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन ये सच है। अगर आपके घर में थोड़ी-सी धूल रह जाती है तो उसमें मौजूद तत्व जो वातावरण में प्रदूषण फैलाते हैं। उनका आपकी हेल्थ पर भी बुरा असर पड़ता है। ये तत्व फैट सेल्स की ग्रोथ में मुख्य भूमिका निभाते हैं।

अमेरिकन केमिकल सोसायटी के शोधकर्ताओं ने पाया कि घर की धूल में जो कंपाउड्स पाए जाते हैं उन्हें इंडोक्राइन-डिसरप्टिंग केमिकल यानी EDC कहते हैं वे फैट सेल्स को प्रोत्साहन देते हैं जिससे शरीर में और ज्यादा फैट जमा होने लगता है। इस स्टडी में पाया गया कि घर की धूल की वजह से एक अतिरिक्त तरह का फैट शरीर में जमा होने लगा जिसे ट्राईग्लिसराइड्स कहते हैं।

EDC एक तरह के सिन्थेटिक या नैचरल कंपाउन्ड्स होते हैं जो बॉडी के हार्मोन्स को रिपीट करने लगते हैं। इस बात का पता तब चला जब कुछ जानवरों पर रिसर्च की गयी। इस दौरान सबूत मिले कि जीवन के शुरुआत दिनों में अगर EDC के प्रति एक्सपोजर ज्यादा हो तो जीवन के बाद के सालों में वजन बढ़ने की समस्या पैदा हो जाती है।

बता दें, EDC कंज्यूमर गूड्स में पाए जाते हैं जो इंडोर डस्ट बनकर हमारे घर के अंदर रहते हैं। इस दौरान जब हम सांस लेते हैं तो वो भी सांस लेने के दौरान हमारी स्किन में अब्जॉर्ब हो जाती है। यूएस इन्वाइरनमेंटल प्रोटेक्शन एजेंसी ने बताया कि हर दिन लगभग 50mg घर की धूल बच्चों के शरीर में जाती है।

loading...
शेयर करें