“चिकने घड़े पे पानी नहीं ठहरता” वाली कहावत सही बैठी, जानिए अमेरिकी सेना ने अफगानिस्तान से जाते-जाते क्या-क्या छोड़ गए

काबुल एयरपोर्ट से आखिरी ग्लोबमास्टर ने उड़ान भरी और साथ ही साथ अफगानिस्तान में अपने कई कीमती और ज़रूरी चीजें छोड़ गए

अफगानिस्तान:  अमेरिकी डेडलाइन से करीब चौबीस घंटे पहले अमेरिका के आखिरी सैनिक मेजर जनरल क्रिस डोनह्यू यूएस प्लेन में सवार हुए और काबुल एयरपोर्ट से आखिरी ग्लोबमास्टर ने उड़ान भरी और साथ ही साथ अफगानिस्तान में अपने कई कीमती और ज़रूरी चीजें छोड़ गए। दरअसल 30 अगस्त की दोपहर से काबुल एयरपोर्ट पर तालिबान का नियंत्रण बढ़ने लगा शायद तालिबानियों को मालूम चल चुका था।

दरसल  30 अगस्त की रात ही अमेरिकी सैनिक काबुल एयरपोर्ट से लास्ट एग्जिट कर लेंगें लिहाजा सोमवार दोपहर तक काबुल हवाईअड्डे के तीन गेट पर तालिबान के स्पेशल फोर्स बदरी 313 बटालियन का कब्जा हो गया इसके बाद सोमवार रात 11 बजे अमेरिका का पहला C-17 ग्लोबमास्टर काबुल एयरपोर्ट से निकला करीब आधे घंटे बाद दूसरा और रात 11 बजकर 59 मिनट पर तीसरा और ठीक एक घंटे बाद अमेरिका का चौथा और आखिरी ग्लोबमास्टर काबुल एयरपोर्ट से निकला और उसके बाद काबुल एयरपोर्ट के आसपास पांच किलोमीटर के दायरे में तालिबानियों ने जश्न मनाना शुरू कर दिया, खुशी के मारे तालिबानी ज़मीन चूमने लगे, एक दूसरे को मुबारकबाद देने लगे नारेबाजी करने लगे और फायरिंग कर खुशी का इजहार करने लगे।

अमेरिका छोड़ गया हथियार, तालिबान बेचेगा कबाड़! - World AajTak

जाने अमरीकी सैनिकों ने काबुल एयरपोर्ट ख़ाली करने के बाद क्या-क्या कीमती चीजें छोड़ी

अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान से जाने के बाद देश पर अब पूरी तरह से  तालिबान का कब्जा है, अमेरिकी सेना अपने पीछे बड़ी मात्रा में हथियार और सैन्य उपकरण छोड़ गई है हालांकि, तालिबान के लिए अधिकांश उपकरण अब महज कबाड़ बनकर रह गए हैं। जमीन पर बख्तरबंद गाड़ियों से लेकर आसमान में युद्धक विमान तक तालिबान के कब्जे में हैं।

फाइटर प्लेन, चॉपर और ऑटोमेटिक राइफल्स भी तालिबान लड़ाकों के हाथ में हैं, बुलेट प्रूफ़ जैकेट, हेलमेट, अफगानिस्तान से जाते समय अमेरिका ने 73 एयरक्राफ्ट्स और 27 Humvees को खराब कर दिया था। हालांकि, अमेरिका अपने पीछे कई बख्तरबंद गाड़ियां छोड़ गया है, जिनकी कीमत लाखों डॉलर में है। अमेरिकी सेना ने उन सभी विमानों और रॉकेट डिफेंस सिस्टम को डैमेज कर दिया है, लेकिन अमेरिकी सेना अफगानिस्तान से जाते-जाते इनमें से बहुत सारे सामानों को कबाड़ करके गई है।  इसके अलावा जिन वाहनों को अमेरिका छोड़कर आया है अब तालिबान के लिए उनमें से अधिकांश का इस्तेमाल करना भी मुश्किल होगा। अमेरिकी सेना ने यह भी कहा है कि जो एयरक्राफ्ट हम छोड़कर आए हैं अब वे इस्तेमाल नहीं किए जा सकेंगे।

 

यह भी पढ़ें:राकेश का विवादित बयान, UP चुनाव से पहले हो सकती की हिंदू नेता की हत्या

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles