दुकानदार ने 10 रुपये का सिक्का लेने से किया मना, अदालत ने दी सजा!

0

मुरैना: मध्यप्रदेश के मुरैना से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक दुकानदार को 10 रुपये का सिक्का लेने से इनकार करना तब भारी पड़ गया, जब शख्स ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी। यही नहीं मामला कोर्ट तक पहुंच गया, जहां मजिस्ट्रेट कोर्ट ने दुकानदार को 200 रुपये का जुर्माना लगाया, साथ ही कोर्ट की कार्यवाही चलने तक सजा भी दी।

ग्राहक ने दुकानदार के खिलाफ की थी शिकायत

मामला मुरैना के जौरा इलाके का है। सहायक लोक अभियोजक अधिकारी भूपेंद्र सिंह के अनुसार, 17 अक्टूबर, 2017 को आकाश नाम का शख्स जौरा कस्बे के पारस एंपोरियम नाम की दुकान पर गया। वहां उन्होंने दो रूमाल खरीद और दुकानदार अरुण जैन को 10-10 रुपये के दो सिक्के दिए। लेकिन अरुण ने 10 रुपये के सिक्के लेने से इनकार कर दिया और कहा कि ये सिक्के अब चलन में नहीं हैं। इस पर दोनों की बहस भी हुई। मामला कोर्ट तक पहुंच गया।

आदेश की अवहेलना करने पर मिली सजा

दुकानदार से रूमाल खरीदने वाले आकाश के मुताबिक उसने दुकानदार से कहा मुरैना डीएम का आदेश है कि 10 रुपये के सिक्के लेने से कोई इनकार नहीं कर सकता। ये सिक्के पूरी तरह से चलन में हैं और मान्य हैं। इसके बावजूद अरुण ने सिक्के लेने से मना कर दिया। इसके बाद आकाश ने मामले की शिकायत जौरा पुलिस थाने में की। जिस पर दुकानदार अरुण जैन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया।

कोर्ट ने दुकानदार को दी ये सजा

मंगलवार को जौरा के न्यायिक मजिस्ट्रेट जेपी चिडार की अदालत में मामले की सुनवाई हुई। जिसमें अदालत ने दुकानदार अरुण जैन को आईपीसी की धारा 188 के तहत डीएम के आदेश की अवहेलना करने का दोषी पाया। जिसके मद्देनजर अदालत ने ने दुकानदार को कोर्ट उठने तक की सजा और 200 रुपये के जुर्माना भरने की सजा दे दी।

loading...
शेयर करें